Raavi Voice # मुख्यमंत्री बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में बढ़ोतरी पर राज्य की अस्वीकृति के बारे केंद्र को तुरंत अवगत करवाएं: सरदार सुखबीर सिंह बादल

राजनीति

रावी न्यूज अमृतसर

शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने आज मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी से कहा है कि वह इस अति संवेदनशील मुददे पर खाली बयान देने के बजाय  सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने पर पंजाब सरकार की अस्वीकृति के बारे  तुरंत केंद्र सरकार को अवगत करवाए।
पवित्र शहर की यात्रा के दौरान यहां पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए उन्होने व्यापार और उद्योग के साथ साथ पेशेवरों और ट्रोसपोर्टरों सहित समाज के विभिन्न वर्गों के साथ मुलाकात की। अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि मुख्यमंत्री अभी इस मुददे पर क्या करना है विचार ही कर रहे हैं। ‘‘ पंजाबियों को उम्मीद है कि उनके मुख्यमंत्री केंद्र को स्पष्ट रूप से बताएं कि बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को अंतरराष्ट्रीय सीमा से 50 किलोमीटर तक बढ़ाने का फैसला राज्य को अस्वीकार्य है। मुख्यमंत्री को पता होना चाहिए कि यह निर्णय राज्य के अधिकारों और राज्य के संघीय अधिकारों का अतिक्रमण करता है। इसे एकमुश्त अस्वीकार किया जाना चाहिए’’।
कांग्रेस सरकार की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर सरदार बादल ने कहा कि ‘‘सरकार पूरी तरह से ठप्प हो गई है। कांग्रेसी जनता के मुददों को सुलझाने के बजाय अपने बीच अंदरूनी लड़ाई में वयस्त हैं, वे  लगातार राज्य के खजाने को लूट रहे हैं’’।
सरदार बादल ने मुख्यमंत्री से गुलाबी सुंडी हमले से पीड़ित कपास उत्पादकों को मुआवजा देने में देरी न करने के लिए कहा । ‘‘ सरकार को किसानों को 50 हजार रूपये प्रति एकड़ और खेत मजदूरों को 15 हजार रूपये प्रति एकड़ का मुआवजा जारी करना चाहिए’’। उन्होने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसी भी किसान को एक भी रूपया न देने के बावजूद मुख्यमंत्री विज्ञापनों द्वारा किसानों को  मुआवजा जारी करने का श्रेय ले रहे हैं। उन्होने यह भी मांग की कि ओलावृष्टि और लगातार बारिश के कारण  खराब हुई फसल का मुआवजा एक पखवाड़े के

भीतर जारी किया जाना चाहिए।
अकाली दल अध्यक्ष ने व्यापार और उद्योग के प्रतिनिधियों के साथ साथ डॉक्टरों और अन्य पेशेवरों से भी मुलाकात की। उन्होने बताया कि कैसे सरकार लोगों की जरूरतों के प्रति पूरी तरह से असंवेदनशील है। सरदार बादल ने उनके साथ राज्य के लिए अपने दृष्टिकोण और योजनाओं पर चर्चा की। व्यापार और उद्योग के पेशेवरों को आश्वासन दिया कि वे शिअद-बसपा गठबंधन और उसके समर्थक लोगों और विकास समर्थक नीतियों का समर्थन करेंगें’’। सरदार बादल ने ट्रांसपोर्टरों से भी बातचीत की और आश्वासन दिया कि शिअद-बसपा गठबंधन की सरकार परिवहन कल्याण बोर्ड बनाएगी और साथ ही परिवहन यूनियनों की बहाली भी करेगी। उन्होने कहा कि  ट्रक ड्राइवरों को तंग करना भी समाप्त कर दिया जाएगा, क्योंकि उन्हे वार्षिक स्टिकर जारी किया जाएगा। उन्होने कहा कि ‘‘ स्टिकर लगे किसी भी ट्रक को सड़क पर रोका नही जाएगा’’। उन्होने हितधारकों के परामर्श से मिनी बसों के लिए अलग पॉलिसी और ड्राइवरों के लिए एक्सीडेंटल  इंश्योरेंस लाने की भी घोषणा की। सरदार बादल ने यह भी घोषणा की कि प्रत्येक शहर में एक अलग ट्रांसपोर्ट नगर विकसित किया जाएगा।
अकाली दल अध्यक्ष ने अमृतसर पश्चिम में पड़ने वाले पुतलीघर बाजार में स्थानीय लोगों से बातचीत की तथा उनकी शिकायतों को सुना और सरकार बनने पर उनका निवारण करने का आश्वासन  दिया। इस अवसर पर गुरप्रताप सिंह टिक्का, दलबीर सिंह वेरका तथा तलबीर गिल के अलावा अमृतसर गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अवतार सिंह ट्रकांवाला भी इस अवसर पर मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *