Raavi News Punjab # इंग्लैंड से हवाला के जरिये होनी थी आतंकी रणजीत सिंह को फडिंग

क्राइम ताज़ा

रावी न्यूज अमृतसर

दो हैंड ग्रेनेड सहित गिरफ्तार किए गए आतंकी रणजीत सिंह को हवाला के जरिए इंग्लैंड से दस लाख रुपये की फंडिग की जानी थी। उसी राशि से उसने ग्रेनेड हमले की तैयारी और फिर कहीं छिपना था। हालांकि ग्रेनेड फेंकने के लिए उसे किसी मोबाइल नंबर से लोकेशन भेजी जानी थी। फिलहाल पता लगाया जा रहा है कि दस लाख रुपये की फंडिग उसे किसके मार्फत की जानी थी।

शनिवार की शाम को स्टेट स्पेशल आपरेशन सेल (एसएसओसी) की टीम ने रणजीत सिंह को ड्यूटी मजिस्ट्रेट रमनदीप कौर की कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने केस की गंभीरता को देखते हुए रणजीत सिंह का दो दिन का और पुलिस रिमांड बढ़ा दिया है। इससे पहले कोर्ट ने आरोपित रणजीत को चार दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा था।

आतंकी की पेशी के बारे में उसके अन्य निहंग साथियों को भनक लग गई थी। शनिवार दोपहर से ही दो दर्जन से ज्यादा निहंगों के वेश में रणजीत के साथी कचहरी परिसर में एकत्र हो चुके थे। जैसे ही शाम को पुलिस टीम आरोपित को कोर्ट लेकर पहुंची तो उसके साथियों ने कचहरी में नारेबाजी करनी शुरू कर दी। निहंगों के वेश में लोगों की संख्या को देखते हुए एसएसओसी की टीम को सिविल लाइन थाने से अतिरिक्त पुलिस भी मंगवानी पड़ी, लेकिन कोर्ट में पेशी के बाद एसएसओसी अपनी पेशी वाली बस को कोर्ट कांप्लेक्स की सीढि़यों तक लेकर पहुंच गई। सीढि़यों से उतरते ही आरोपित को बस में बैठाकर ले जाया गया।

दो मनी एक्सचेंजरों सहित दर्जनभर संदिग्धों से की पूछताछ

पता चला है कि एसएसओसी के अधिकारियों ने शुक्रवार और शनिवार को दो मनी एक्सचेंजरों सहित दर्जनभर संदिग्धों से पूछताछ की है लेकिन किसी से कोई सुबूत हाथ नहीं लगा। बताया जा रहा है कि जैसे ही कोई साक्ष्य हाथ लगा तो पुलिस किसी भी आरोपित को धर सकती है। उल्लेखनीय है कि एसएसओसी ने तरनतारन निवासी रणजीत को दो ग्रेनेड और दो चीन निर्मित पिस्तौल के साथ गिरफ्तार किया था। पूछताछ में आरोपित ने स्वीकार किया था कि उसे धार्मिस स्थल और सैन्य ठिकानों पर बम ग्रेनेड फेंकने के आदेश मिले थे। लेकिन यह लोकेशन उसे मिलनी बाकी थी।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.