Raavi News # हमारा उद्देश्य सरकार बनाना, ना कि सिर्फ कांग्रेस को हराना: कैप्टन अमरिंदर

राजनीति

रावी न्यूज चंडीगढ़ (गुरविंदर सिंह मोहाली)

पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि उनकी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का मिशन पंजाब में अगली सरकार बनाना है, ना कि सिर्फ कांग्रेस को हराना।

इस क्रम में, एक पूर्व सांसद व कुछ पूर्व विधायकों को आज यहां पार्टी में शामिल करने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि वह राज्य भर में लोगों से मिल रहे उत्साह से बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही तीनों राजनीतिक दलों कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल से कई मौजूदा व पूर्व विधायक पंजाब लोग कांग्रेस में शामिल होंगे। जिन्होंने लोगों के उत्साहित इकट्ठ को संबोधित करते हुए कहा कि हम जल्द ही ऐसा एक समारोह रखेंगे। लेकिन वह बड़े स्तर का होगा, जिसमें कई नेता हमारे साथ शामिल होंगे।

इस अवसर पर पंजाब लोक कांग्रेस के मिशन का खुलासा करते हुए कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि वह यहां सिर्फ एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनने के लिए नहीं आए हैं। इस दौरान राज्य को पेश आ रही कुछ समस्याओं का जिक्र करते हुए कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि उनका उद्देश्य सिर्फ पंजाब को बचाना नहीं, बल्कि इसके पुराने सम्मान को भी दोबारा कायम करना है। 

पूर्व मुख्यमंत्री ने खुलासा किया कि पंजाब करीब 5 लाख करोड रुपए के भारी कर्ज तले दबा है, जो राज्य की कुल जीडीपी का करीब 70 प्रतिशत बनता है। इस रकम को चुकाते हुए कई पीढ़ियां लग जाएंगी और इसके लिए तुरंत सही कदम उठाने की जरूरत है।

उन्होंने यह भी हैरानी जाहिर की कि किस तरीके से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी लोकलुभावन ऐलान कर रहे हैं। संभावित तौर पर वह जानते हैं कि कांग्रेस सत्ता में वापस नहीं आने वाली और अगली सरकार को इसका बोझ उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब ज्यादा समय तक कृषि पर निर्भर नहीं रह सकता और उसे आधुनिक इंडस्ट्री के लिए निवेश की जरूरत है। उन्होंने खुलासा किया कि सितंबर 2021 तक एक लाख करोड़ रुपए पंजाब में निवेश हो चुके थे।

इसी तरह पड़ोसी देशों से खतरे का जिक्र करते हुए कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि भारत किसी देश से दुश्मनी नहीं रखना चाहता है। वह व्यक्तिगत तौर पर किसी भी पाकिस्तानी व्यक्ति के विरुद्ध नहीं है, लेकिन उनको पाकिस्तान की सरकार और वहां की आतंकवाद की फैक्ट्रियों से समस्या है, जो यहां आतंकवाद का प्रसार करते हैं और देश की सीमाओं पर हमारे जवानों का कत्ल करते हैं। उन्होंने खुलासा किया कि बीते 5 सालों के दौरान पंजाब के 83 जवान शहीद हो चुके हैं। ऐसे में आप देश भर में होने वाली मौतों का अंदाजा लगाओ। इन हालातों में कोई भी असली भारतवासी इमरान खान और पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर बाजवा को अपना दोस्त नहीं कह सकता। इस दौरान उन्होंने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा सरेआम इमरान खान को अपना दोस्त बताए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यदि आप इन लोगों के दोस्त ,हैं तो आप भारत के शुभचिंतक नहीं हैं।

इसी तरह राज्य में अन्य राजनीतिक दलों की बुरी हालत का जिक्र करते हुए कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ग्रह युद्ध को झेल रही है। जहां मुख्यमंत्री और प्रदेश कांगेस अध्यक्ष अलग-अलग दिशाओं की ओर बढ़ रहे हैं व कार्यकर्ता और नेता इस बात को लेकर असमंजस में हैं कि वे किसके पहुंच जाएं।

आम आदमी पार्टी के बारे में उन्होंने कहा कि वह गिरावट के दौर का सामना कर रही है। इसके आधे विधायक पहले ही पार्टी छोड़ चुके हैं और बाकी छोड़ने को तैयार हैं।

शिरोमणि अकाली दल के बारे में उन्होंने कहा कि इनके कार्यकाल के दौरान साल 2015 में हुई बेअदबी की घटनाओं और उन पर कोई कार्रवाई ना होने के चलते लोगों द्वारा दी गई सजा के बाद से ये अपने कदम नहीं टिका पा रहे हैं।

इसके अलावा, किसान इनके द्वारा कृषि कानूनों को दिए समर्थन के लिए माफ नहीं करने वाले, जो बाद में अपने स्टैंड से पीछे हट गए थे।

जबकि अपनी पार्टी की रणनीति के बारे में उन्होंने बताया कि पंजाब लोक कांग्रेस भाजपा के साथ सीटें बांटेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सुखदेव सिंह ढींडसा के साथ भी चर्चा कर रही है। वह उम्मीद करते हैं कि जल्द सीटों पर सहमति बन जाएगी और नई सरकार किसी भी कीमत पर राज्य के हितों की रक्षा करेगी।

इससे पहले अलग-अलग वक्ताओं ने पंजाब के हितों की रक्षा के लिए उनके द्वारा दिए गए बेमिसाल योगदान की प्रशंसा की। इस क्रम में, चाहे 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद पार्टी और संसद से दिया इस्तीफा हो या फिर 2004 में पानी के बंटवारे संबंधी समझौते रद्द करना, कैप्टन अमरिंदर ने हमेशा पंजाब के हितों को व्यक्तिगत हितों से ऊपर रखा है।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.