Raavi News # शहर के पंडितो ने की अपील चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से ही मनाएं नव वर्ष

धर्म

रावी न्यूज गुरदासपुर

आज गुरदासपुर के समस्त पंडित एवं पुजारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक स्थानीय रघुनाथ मंदिर में संपन्न हुई। बैठक में पं गगन शर्मा ने सनातन धर्म की महत्ता बताते हुए कहा कि हिन्दू नव वर्ष हमेशा चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से ही आरम्भ माना जाता है, जबकि कुछ लोग पश्चिमी सभ्यता का अनुसरण करते हुए नववर्ष 31 दिसंबर की मध्यरात्रि या 1 जनवरी को मनाते हैं जोकि सनातन धर्म के लिहाज से तर्कसंगत नहीं है

इस दौरान मीटिंग में शहर के कई गणमान्य पंडित मौजूद रहें जिनमे पं गोल्डी छत्ती खुही मंदिर, पं अरुण शास्त्री कृष्णा मंदिर, पं मोहन लाल, पं प्रकाश कुमार, पं धीरज शर्मा, पं राकेश शास्त्री पंजपीर मंदिर, पं राम प्रसाद गाजिकोट, पं रिंकू जेल मंदिर, पं रिंकू गौरी शंकर मंदिर, पं राजेश वाल्मीकि मंदिर, पं राम शुक्ला राजपुरा, पं चंद्र कुमार दुर्गा मंदिर, पं सत्येंद्र, पं राजन कुमार हरदोछनी, पं महेश उनियाल जपोवाल आदि सभी पंडितो ने एकजुट होते हुए कहा कि आज सनातन धर्म के महत्व को वैज्ञानिक भी सही मानते हैं क्योंकि हिन्दू पंचांग कि गणना और वैज्ञानिको द्वारा कि जाने वाली ग्रह गोचर की गणना हमेशा से ही एक रही हैसभी पंडितो ने शहर वासियों से अपील करते हुए कहा कि हिंदू नव वर्ष हमेशा नव विक्रमी संवत से ही शुरु होता है इसलिए सभी सनातन प्रेमी 1 जनवरी कि बजाय चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से ही नव वर्ष मनाएं अंत में पं गोल्डी शर्मा द्वारा जिले भर से आए हुए सभी पंडितों का धन्यवाद किया गया

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.