raavi news # विधान सभा चुनाव करवाने के लिए निर्वाचन आयोग पूरी तरह तैयार – चुनाव आयोग

Breaking News

राज्य में 3 लाख नौजवान नये वोटर बने हैं जिनको गर्व से निर्वाचन प्रक्रिया का हिस्सा बनाया जा रहा

रावी न्यूज चंडीगढ़/मोगा (गुरविंदर सिंह मोहाली)

जि़ला मोगा, फिऱोज़पुर और फरीदकोट में विधान सभा चुनाव-2022 को सुरक्षित, स्वतंत्र, निर्विघ्न, सुचारू और पारदर्शी ढंग से करवाने के लिए की जा रही तैयारियों का जायज़ा लेने के लिए पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डा. एस. करुणा राजू आज मोगा पहुँचे। उन्होंने यहाँ जि़ला प्रशासनिक कंपलैक्स में उक्त जिलों के जि़ला निर्वाचन अधिकारियों और जि़ला पुलिस मुखियों समेत जिलों के सभी विधान सभा हलकों के रिटर्निंग अधिकारियों और सहायक इलैक्ट्रोल अधिकारियों के साथ बैठक करके समूचे निर्वाचन प्रबंधों की समीक्षा की।

इस बैठक से पहले पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुये डा. एस. करुणा राजू ने कहा कि पंजाब में विधान सभा चुनाव-2022 करवाने के लिए निर्वाचन आयोग पूरी तरह तैयार है। 

उन्होंने कहा कि यकीनी बनाया जा रहा है कि हर योग्य वोटर, वोटर सूची में शामिल हो और ख़ास कर तीसरे लिंग वाले हर वोटर को वोटर सूची का हिस्सा बनाने के लिए हर गाँव, वार्ड और बूथ स्तर पर विशेष मुहिम शुरु की गई है। जबकि राज्य में 3 लाख नौजवान नये वोटर बने हैं और इनको गर्व से साथ निर्वाचन प्रक्रिया का हिस्सा बनाया जा रहा है।

इसके इलावा इस बार राज्य के 5 लाख सीनियर सिटिजन वोटरों के लिए पोस्टल बैलेट पेपर इस्तेमाल किये जाएंगे। जबकि महिला वोटरों के लिए इस बार आपकी वोट आपकी ताकत और आपका गर्व नाम की विशेष मुहिम चलाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि इस बार वोटरों को दस्ती वोटर स्लिपें जारी करने के साथ साथ ई-वोटर स्लिप भी जारी की जायेगी। यह वोटर के फ़ोन पर मिलेगी। उन्होंने वोटरों से अपील की कि वह पूरी तरह निर्वाचन प्रक्रिया से जुडऩे के लिए वोटर हेल्प लाईन एप को डाउनलोड करें। इस एप पर हर तरह की जानकारी उपलब्ध होगी। 

एक सवाल के जवाब में डा. राजू ने बताया कि विधान सभा चुनाव के काम को तेज़, सुचारू, पारदर्शी और समय पर मुकम्मल करना यकीनी बनाया जायेगा। उन्होंने बताया कि पिछले चुनाव में राज्य में अर्ध सुरक्षा बलों की 525 कंपनियां तैनात की गई थीं। इस बार भी ज़रूरत के मुताबिक कंपनियों की माँग की जायेगी। 

एक सवाल के जवाब में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि संवेदनशील बूथों की शिनाख़्त के लिए हर नज़रिये से समीक्षा की जा रही है। उन्होंने आगे बताया कि भगौड़े अपराधियों, पैरोल जम्परों, गड़बड़ी करने वालों, नशा तस्करों और ग़ैर-जमानती वारंटों वालों पर तीखी नजऱ रखते हुये कानून के मुताबिक कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि इस बार हर बूथ की 100 प्रतिशत वीडियोग्राफी और वेब कास्टिंग की जायेगी।

उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग(ई.सी.आई.) ने बूथ स्तर अधिकारियों द्वारा सभी पोलिंग स्टेशनों की डिजिटल मैपिंग के लिए गरुड़ एप विकसित की गई है। इस एप के द्वारा बी.एल.ओ अपने रजिस्टर्ड मोबायल नंबरों के द्वारा पोलिंग स्टेशनों की फोटो और स्थान की जानकारी अपलोड करेंगे। उन्होंने बताया कि यह एप जहाँ मानवीय शक्ति पर निर्भरता घटाऐगी, वहीं कागज़ी कामों को भी कम करने में सहायक सिद्ध होगी और अब बी.एल.ओज़ वोटरों के नाम वोटर सूची में शामिल करने, काटने या अपने पते में संशोधन करवा सकेंगे।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस ऐप में पोलिंग स्टेशनों में व्हीलचेयरों, शौचालयों, पीने वाला पानी, बिजली, शैड, कुर्सियों, दिव्यांगजनों के लिए रैंप समेत अन्य ज़रूरी सहूलतों के विवरण भी शामिल किये जाएंगे जोकि आनलाइन भी चैक किये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग की तरफ से आनलाइन मैपिंग प्रक्रिया को मिशन मोड मुहिम के द्वारा अगले दिनों में मुकम्मल करने के आदेश दिए गए हैं।

डा. एस. करुणा राजू ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण पोलिंग बूथों की संख्या 23211 से बढ़ा कर 24659 कर दी गई है और यह संख्या और भी बढ़ सकती है। जि़ला मोगा फरीदकोट और फिऱोज़पुर में 93 नये बूथ बनाऐ गए हैं। उन्होंने कहा कि पहले 1400 वोटरों के लिए बूथ बनाया जाता था जबकि अब कोरोना के कारण वोटरों की संख्या को घटा कर 1200 की गयी है। 

उन्होंने बताया कि कोविड की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजऱ पोलिंग स्टेशनों में मास्कों, दस्तानों, सैनेटाईजऱ और सामाजिक दूरी आदि के विशेष बंदोबस्त किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि विधान सभा चुनाव लोकतंत्र का अहम त्योहार है, इसलिए वोटरों को अपने वोट के अधिकार की स्वतंत्र तरीके से प्रयोग करने के लिए जागरूक करने के लिए मीडिया भी सहयोग करें। उन्होंने बताया कि इन चुनाव में एम-3 ईवीएम मशीनों का प्रयोग किया जायेगा, जिनमें खऱाबी की कोई गुंजाईश नहीं है।

उन्होंने बताया अधिकारियों को कहा गया है कि वह वोटरों को चुनाव में हिस्सा लेने के लिए उत्साहित करने के साथ-साथ मृत हो चुके वोटरों और तर्कपूर्ण गलतियों को वोटर सूची में से निकालने के साथ-साथ स्वीप अभ्यान के अंतर्गत अपने क्षेत्रों में व्यापक जागरूकता गतिविधियां भी चलाएं। उन्होंने बताया कि वोटर सूचियों की ड्राफ्ट प्रकाशना 1नवंबर को की जायेगी और इसमें संशोधनें, दावे और ऐतराज़ों के लिए एक महीने के लिए वोटरों के सम्मुख रखा जायेगा और वोटर सूची की अंतिम प्रकाशना 5 जनवरी, 2022 को होगी।

इस मौके पर डा. करुणा राजू ने जि़ला प्रशासन के समूचे अधिकारियों के साथ निर्वाचन तैयारियों संबंधी विस्तृत बातचीत की। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *