Raavi News # पंजाब स्वास्थ्य विभाग द्वारा 15-18 साल के 14.9 लाख बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्य

Breaking News

रावी न्यूज चण्डीगढ़

पंजाब में कोविड संक्रमण की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ रही है और मौजूदा संक्रमण दर 6 प्रतिशत है, जिस कारण अब आने वाले समय में कोविड की तीसरी लहर का ख़तरा संभावित लगता है। ऐसी स्थिति को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग किसी भी तरह की आपदा से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों के बारे में और जानकारी देते हुए निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. जी.बी. सिंह ने कहा कि जैसा कि कोरोना की तीसरी लहर के आने पर बहुत ज़्यादा संख्या में कोरोना मरीज़ों के बढऩे का अंदेशा जताया जा रहा है। परन्तु विभाग के पास बड़ी संख्या में कोरोना के मामलों से निपटने के लिए सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्होंने पंजाब के लोगों से अपील की कि वह कोविड से बचने के लिए अपना संपूर्ण टीकाकरण करवाएं, क्योंकि यही कोविड से बचने का सबसे शक्तिशाली साधन है। टीकाकरण की दर बढ़ाने के लिए पंजाब के स्वास्थ्य विभाग ने 3 जनवरी से 15-18 साल की उम्र के बच्चों का टीकाकरण शुरू कर दिया है और दो दिनों के अंदर ही पंजाब ने लगभग 12000 बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज़ दे दी है। उन्होंने यह भी बताया कि पंजाब में कोविड वैक्सीन की बूस्टर डोज़ भी 10 जनवरी से शुरू होने जा रही है। पहले पड़ाव में हैल्थ केयर वर्कर, फ्रंटलाईन वर्कर और 60 साल से अधिक उम्र के सह-रोगों वाले व्यक्ति इस बूस्टर डोज़ के लिए योग्य होंगे। दूसरी डोज़ के बाद नौ महीनों का अंतराल पर बूस्टर डोज़ के लिए पात्र होने के लिए ज़रूरी है।
डॉ. जी.बी. सिंह ने हरेक व्यक्ति द्वारा कोविड के उचित व्यवहार की सख्ती से पालना करने की अपील भी की, क्योंकि ओमीकॉन वेरीएंट की संक्रमण दर डेल्टा वेरीएंट की अपेक्षा तीन गुना अधिक है।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.