मोदी की पंजाबियों को उन्हें 5 साल सेवा का मौका देने की अपील

Breaking News

रावी न्यूज चंडीगढ़

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाबियों को उन्हें 5 साल सेवा करने का मौका देने की भावनात्मक अपील की है। उन्होंने राज्य का सर्वपक्षीय विकास और कृषि, व्यापार व इंडस्ट्री को पूरी तरह से पुनः जीवित करने का वादा किया है। यहां एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जहां भी भाजपा सरकार बनाती है, लोग उसे जाने नहीं देते और वहां कभी भी विरोध नहीं होता, क्योंकि भाजपा सरकार लोगों की सेवा और राज्य की तरक्की करने में विश्वास रखती है। जहां भी भाजपा सत्ता में आती है, वहां कोई भ्रष्टाचार नहीं होता। उन्होंने कहा कि जहां भी भाजपा विकास व तरक्की का कारवां शुरू करती है, अधिक से अधिक लोग उसमें शामिल होते जाते हैं और वे उसे नहीं छोड़ते। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे 20 फरवरी को राज्य व देश की सुरक्षा को ध्यान में रखकर वोट दें।

लोग 20 फरवरी को पंजाब में शांति व भाईचारे और राज्य में तरक्की के लिए वोट दें। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत श्री गुरू रविदास महाराज जी को उनके प्रकाश पर्व पर श्रद्धांजलि भेंट करते हुए दी। उन्होंने श्री गुरू रविदास जी के विचारों का जिक्र करते हुए कहा कि वह उनके विचारों पर विश्वास रखते हैं कि सरकार के लिए हर कोई बराबर होना चाहिए और हर किसी को खाना मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि पंजाब को डबल इंडिया सरकार के चाहिए। उन्होंने भरोसा व्यक्त किया कि पंजाब के लोग इस बार भाजपा को एक मौका देने का फैसला कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि जब राज्य में भाजपा सरकार नहीं थी, तो केंद्र सरकार ने यहां हाईवेज और अन्य विकास प्रोजेक्टों के लिए बड़ी रकम का निवेश किया। मोदी कांग्रेस व आम आदमी पार्टी पर गुनाहों में भागीदार होने को लेकर बरसे। उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियों ने श्री राम मंदिर के निर्माण का विरोध किया था और हमारी रक्षा सेनाओं की बहादुरी पर सवाल किया था। उन्होंने आरोप लगाया कि जहां एक पार्टी ने राज्य को नशों में धकेला, तो दूसरी पार्टी दिल्ली के हर नुक्कड़ पर शराब को फैला रही है। दोनों पार्टियां एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। उन्होंने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि जब पठानकोट में आतंकी हमला हुआ था और पूरा देश एकजुट था, तब कांग्रेस पाकिस्तान की तरह अलग राग अलाप रही थी। उन्होंने हमारे सिपाहियों की बहादुरी पर सवाल किया, ऐसा क्यों? ये हमारे जवानों के बलिदान व बहादुरी का सबूत चाहते थे। उन्होंने सर्जिकल स्ट्रीक्स को लेकर आशंका जाहिर करने वाले कांग्रेस व आम आदमी पार्टी का जिक्र करते हुए, कहा कि जब हमारे जवान अपनी बहादुरी और बलिदान का परिचय दे रहे थे, तब भारत के कुछ राजनीतिक दल पाकिस्तान की भाषा बोल रहे थे। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर बंटवारे के समय श्री करतारपुर साहिब को  पाकिस्तान में ही जाने देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि 1965 व 1971 की लड़ाईयों में भारत को श्री करतारपुर साहिब की जमीन वापस लेने का सुनहरी अवसर मिला था, लेकिन कांग्रेस की सरकारों ने इसकी चिंता नहीं की। सीमावर्ती इलाकों में विकास को लेकर उन्होंने कहा कि मौजूदा बजट में गांवों के इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास हेतु विशेष प्रबन्ध किए गए हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने पठानकोट व यहाँ के लोगों के साथ अपने पुराने संबंधों को याद किया। उन्होंने कहा कि जब पंजाब में सामान्य वर्कर के रूप में काम करते हुए, वह कई बार जम्मू से दिल्ली तक टू व्हीलर व ट्रेन के जरिए जाते थे, तब लोग आते व उन्हें टिफिन पकड़ा जाते। वह लोगों का वह प्यार व जुड़ाव नही भुला सकते।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.