मनजिंदर के माता-पिता हैं दिव्यांग, तीन बहनों का इकलौता भाई था रवि

गुरदासपुर आसपास पंजाब राजनीति

रावी न्यूज गुरदासपुर

गांव मल्लियां के नजदीक हाईडल प्रोजेक्ट निर्माण के दौरान नहर में डूबे रवि और मनजिंदर अपने अभिभावकों के इकलौते चिराग थे। इससे दोनों के परिवारों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

गांव धारीवाल कलां के मनजिदर सिंह के दिव्यांग पिता हरदीप सिंह ने बताया कि मनजिदर सिंह के अलावा उसकी दो बेटियां हैं। मनजिदर सिंह की मां भी दिव्यांग है। उन्होंने बताया कि मनजिदर सिंह जो कमाता था, उसी से उनका गुजारा चलता था। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। हादसे के बाद मनजिदर सिंह के परिवार का रो रो कर बुरा हाल है। चाहे कंपनी की ओर से मृतक के परिवारों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा दिया गया है, लेकिन यह रकम उनके दुख को ओर बढ़ाने वाली है। इसी तरह रवि कुमार के बुजुर्ग पिता सरदारी लाल ने बताया कि रवि उनका इकलौता बेटा था। इसके अलावा उनकी तीन बेटियां हैं। उनका आरोप है कि उनके बेटे की मौत कंपनी मालिकों की लापरवाही से हुई है। उन्होंने कहा कि उनका बेटा इस दुनिया से चला गया है और ऐसे में कंपनी मालिकों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। मनजिदर सिंह के परिवार का रो रो कर बुरा हाल है। वहीं अकाली नेता गुरइकबाल सिंह माहल व किसान संगठन के नेता गुरमुख सिंह का कहना है कि ऐसे हालात में परिवार का जो नुकसान हुआ है, वह पैसे देकर भी पूरा नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि इन दोनों युवकों की मौत ने जहां पूरे परिवार को झगझोर कर रखा दिया है, वहीं क्षेत्र में शोक की लहर पाई जा रही है। उक्त नेताओं ने कहा कि इन जरूरतमंद परिवारों को पंजाब सरकार 20-20 लाख रुपये की सहायता राशि तुरंत दे।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.