सुखबीर ने कहा बलबीर सिंह राजेवाल केंद्र के साथ गुप्त समझौता करने की कोशिश करने के लिए किसानों को स्पष्टीकरण दें

राजनीति

रावी न्यूज दीनानगर

अकाली दल के अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से 5 जनवरी को उनकी यात्रा के दौरान चंडीगढ़ और पंजाबी भाषा क्षेत्रों को पंजाब में स्थानांतरित करने की घोषणा के साथ साथ राज्य को नदी के पानी पर रिपेरियन अधिकार प्रदान करने की घोषणा करने की अपील की।

अकाली दल अध्यक्ष बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार कमलजीत चावला के पक्ष में विशाल सभा को संबोधित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए घोषणा की कि अगली शिअद-बसपा गठबंधन सरकार इस शहर में एक सहकारी चीनी मिल स्थापित करेगी।

प्रधानमंत्री की यात्रा के बारे में बोलते हुए सरदार बादल ने कहा कि पंजाबियों को प्रधानमंत्री से बहुत उम्मीदें हैं, कि वे पिछले कई दशकों में राज्य के साथ हुए अन्याय को दूर करेंगें। ‘‘ मैं श्री मोदी से 5 जनवरी को चंडीगढ़ को पंजाब में स्थानांतरित करके बदलाव लाने का आग्रह करता हूं। पंजाबी भाषा क्षेत्र जो 1966 में इसके गुनर्गठन के समय बाहर रह गए थे, उन्हे वापिस स्थानांतरित किया जाना चाहिए। इसी तरह नदी के पानी पर राज्य के रिपेरियन अधिकार भी उसे दिए जाने चाहिए।

अकाली दल अध्यक्ष ने इस बात पर  प्रसन्नता व्यक्त की कि फिरोजपुर में पी.जी.आई सेटेलाइट सेंटर, जिसे उन्होने राज्य के लिए सुरक्षित किया था, का उदघाटन 5 जनवरी को पंजाब की अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा किया जाएगा। यह सुविधा सीमावर्ती इलाके के लिए वरदान साबित होगी और प्रधानमंत्री से यह सुनिश्चित करने की आग्रह किया कि इसे इसे शीघ्रता से पूरा किया जाए।

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के नेता बलबीर सिंह राजेवाल और उनके केंद्रीय गृहमंत्री से जुड़े कुछ नेताओं द्वारा लिखे गए पत्र के रूप में ‘लेटर बम’’ के बारे में पूछे जाने पर स. सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि श्री राजेवाल ने इसके लिए स्पष्टीकरण देना चाहिए। ‘‘ जाहिर है कि वह किसान समुदाय की पीठ पीछे केंद्र के साथ  गुप्त सौदे करने की कोशिश करके किसानों को धोखा दे रहे हैं, पूरे मामले की जांच होनी चाहिए’’।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की लोक कांग्रेस पार्टी और सुखदेव सिंह ढ़ींडसा की शिअद (संयुक्त) के  भाजपा के साथ मिलने के बारे सवाल किया गया तो सरदार बादल ने कहा कि ‘‘ एक गैर-इकाई को दूसरे के साथ मिलने से कोई फर्क नही पड़ता। एक शून्य सौ बार गुणा करने पर भी शून्य ही होता है। पंजाबी उनके बारे में अच्छी तरह जानते हैं। इस गठबंधन से राज्य की राजनीति पर कोई फर्क नही पड़ेगा’’।

राज्य पुलिस कर्मियों के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू के हाल ही के बयानों के बारे में बोलते हुए स. बादल ने कहा कि ‘‘ एक गुमराह मिसाइल  बहुत बुरी होती  हैं, सिद्धू अब अपने निराश, कुंठित मनमौजी बयानबाजी में अश्लीलता का सहारा ले रहे हैं’’। उन्होने कहा कि सिद्धू के पास पंजाब को देने के लिए जहर, घृणा, असीम अंहकार के अलावा कुछ भी नही है।

दो मौजूदा विधायकों फतेहजंग बाजवा और बलविंदर लडडी के भाजपा में शामिल होने बारे में पूछे जाने पर अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि हालांकि यह कांग्रेस का आंतरिक मामला है, लेकिन यह पंजाब कांग्रेस की स्थिति का दर्शाता है। ‘‘ अब यह स्पष्ट है कि कांग्रेसियों को एहसास है कि उनकी पार्टी बर्बाद हो गई है, और वे बड़ी संख्या में इधर उधर जा रहे हैं’’।

इससे पहले अकाली दल अध्यक्ष ने बसपा प्रत्याशी कमलजीत चावला के साथ दीनानगर के बाजारों में घर घर प्रचार करने के अलावा शानदार रोड शो की अगुवाई की। उन्होने अपने हलके के दौरे पर विभिन्न ऐतिहासिक मंदिरों में माथा टेका तथा इस दौरान उनके साथ गुरबचन सिंह बब्बेहाली भी मौजूद थे।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.