शिव सेना बाला ठाकरे की हुई बैठक

गुरदासपुर

रावी न्यूज गुरदासपुर

आज शिवसेना बाला ठाकरे की विशेष बैठक रमन शर्मा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिसमें राज्य उपप्रमुख व 6 जिलों के इंचार्ज हरविंदर सोनी व राज्य सचिव आशीष अरोड़ा विशेष रूप से उपस्थित हुए।

इस मौके पर हरविंदर सोनी ने कहा कि राज्य में सरकार के नुमाइंदों के मध्य चल रहे आंतरिक घमासान से जनता को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य की पुलिस को हमेशा शिकायत रहती है कि राजनीतिक लोग उनको उनका कार्य ईमानदारी से नही करने देते और पूरे पुलिस प्रशासन को राजनीतिज्ञ अपने नियंत्रण में रखते हैं जिसके कारण पुलिस को वो कार्य भी करने पड़ते हैं जो गैर कानूनी और अनैतिक होते हैं।

सोनी ने कहा कि राजनीतिक लोग अगर स्वयं ईमानदारी से कार्य करना चाहते हैं और पुलिस को अपना काम ईमानदारी से करने देना चाहते हैं तो कोई  फर्क नही पड़ता कि डीजीपी दिनकर गुप्ता जी हों या इकबाल सिंह सहोता हों। अनेक सालों से देखा जा रहा है कि पंजाब की पुलिस कार्यप्रणाली में राजनीतिज्ञों का दखल इतना बढ़ गया है कि अच्छा भला कार्य कर रहे डीजीपी दिनकर गुप्ता को जबरदस्ती छुट्टी पर भेज दिया गया है और इतना ही नही नियमों के मुताबिक अगर इकबाल सिंह सहोता जी को डीजीपी का पदभार सौंप ही दिया गया है तो उनको भी आज़ादी से काम करने नही दिया जा रहा है।

सोनी ने कहा कि राजनीतिज्ञों की आपसी लड़ाई में पूरा सिस्टम अस्त व्यस्त हो गया है जिसके कारण आम जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है हालांकि मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी काफी भागदौड़ करके जनता से सामंजस्य बिठाने की कोशिश कर रहे हैं पर उनका ज़्यादा समय तो आपसी राजनीतिक उठापटक में ही खर्च हो रहा है इसलिए शिवसेना द्वारा मुख्यमंत्री चन्नी से आग्रह किया जाता है कि इस झंझट को खत्म करके जनता के welfare की तरफ ध्यान दें तथा पुलिस को दबावमुक्त करें ताकि पुलिस अपना कार्य स्वतंत्र रूप से कर सके और आतंकवाद को रोकने तथा कानून और व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने में सफल हो सके।

इस मौके पर राजू ठाकुर,दीपक शर्मा, सहदेव,सुरिंदर रावत,सरोज पांडे,सूरज ठाकुर,रवि ठाकुर आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *