वेबीनार में डॉ अमृतपाल ने बताई डाटा एनालिटिक साइंटिस्ट बनने के लिए अनिवार्य योग्यताएं

दुनिया

रजिंदर सैनी

दीनानगर। स्थानीय एस एस एम कॉलेज मैं प्रिंसिपल डॉ आरके तुली की अध्यक्षता में स्नातकोतर कंप्यूटर साइंस विभाग द्वारा सनेरियो आफ एनालिटिक्स एंड इमर्जिंग ट्रेंड्स एट ग्लोबल लेवलस विषय पर वेबीनार का आयोजन किया गया। जिसमें डॉक्टर अमृतपाल सिंह (डाटा साइंस स्पेशलिस्ट एम एन पी कैलगरी अलबर्टा कैनेडा) बतौर  संसाधन व्यक्ति शामिल हुए। सर्वप्रथम प्रिं डॉ तुली ने सभी का स्वागत करते हुए सूचना प्रौद्योगिकी नई-नई तकनीकों के ज्ञान को आवश्यक बताया। तदुपरांत वेबिनार की संयोजक  प्रो मोनिका ने की रूपरेखा से सभी को अवगत कराया। मुख्य वक्ता डॉ अमृतपाल सिंह ने कहा कि इमर्जिंग टेक्नोलॉजी सूचना प्रौद्योगिक की ऐसी तकनीक है। जो पुरानी तकनीकों को पछाड़ कर आगे निकल चुकी है। उन्होंने डाटा एनालिटिक  साइंटिस्ट बनने के लिए अनिवार्य योग्यता इत्यादि, तथा मशीन लर्निंग  के बारे में विस्तार से  चर्चा की। अंत में डॉ रितिक ने सभी का धन्यवाद किया । इस मौके पर प्रो विशाल महाजन, प्रो अमित कुमार, प्रो समिता, प्रो सन्नी कुमार, प्रो लखविंदर , प्रो रमणीक तुली, प्रो पुनीत ओहरी, प्रो जितेंद्र कुमार, प्रो कुलविंदर कौर , प्रो पूनम, प्रो कीर्ति पठानिया,  प्रो अर्चना सैनी, प्रो शिंदर कौर, प्रो नीरू बाला व प्रो रीना उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *