विरोधियों ने शिअद को हराने की हर कोशिश की, वाहेगुरु ने जितवाया : सिरसा

Breaking News ताज़ा धर्म पंजाब राजनीति

अमृतसर : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) के चुनाव में विजयी रहे शिरोमणि अकाली दल (बादल) के उम्मीदवारों ने शनिवार को श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेका। कमेटी के निवर्तमान अध्यक्ष मनजिदर सिंह सिरसा ने कहा कि विरोधी पार्टियों का एक ही लक्ष्य था कि शिअद (बादल) को हराया जाए, लेकिन विरोधियों की साजिश सफल नहीं हुई और वाहेगुरु ने उन्हें जीत दिलवाई।

सचखंड में माथा टेकने के बाद मनजिदर सिंह सिरसा ने कहा कि विरोधी पार्टियां दिल्ली कमेटी के चुनाव में एकजुट हो गई थीं। उनका एक ही लक्ष्य था कि शिअद (बादल) को हराया जाए, लेकिन विरोधियों की साजिश नहीं चल सकी और वाहेगुरु ने उन्हें जीत दिलवाई। उन्होंने कहा कि कभी किसी ने सांप और नेवले की दोस्ती नहीं देखी होगी, लेकिन इन चुनावों में सांप और नेवले एक ही टेबल बैठे हुए दिखाई दिए। आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और भाजपा के नेता एक ही टेबल पर बैठकर उनके खिलाफ साजिश कर रहे थे। कई तो एजेंट बनकर अंदर बैठे हुए थे। उन्होंने कहा कि देश में आज तक कोई ऐसा चुनाव नहीं हुआ है, जिसमें 25 से 30 प्रतिशत वोट रिजेक्ट किए गए हों। इन चुनावों में एक हलके में जितनी वोटिग हुई थी, उसमें 36 प्रतिशत वोट रिजेक्ट की गई थी। यह वोटिग रिजेक्ट होने के बाद भी उनका उम्मीदवार जीतकर आया। उनके उम्मीदवारों के 250 वोट रद कर दिए गए और उन्हें 50 वोट से हरवा दिया गया। एक उम्मीदवार को जीत का सर्टिफिकेट दे दिया और बाद में एक रिटर्निग आफिसर ने उसे फोन किया कि सर्टिफिकेट लेकर दोबारा आना होगा, क्योंकि उसे चेक करना है। यह सर्टिफिकेट न देने की कोशिश थी। संगत ने विरोधियों की चालों को कामयाब नहीं होने दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *