लोक सेवा और निडरता के संस्कार उन्हें विरासत में मिले – रमन बहल

Breaking News पंजाब राजनीति होम

रावी न्यूज

गुरदासपुर। सच्चाई और ईमानदारी से सियासत को सही मायनों में निभाने वाले तथा लोगों के हितों और आवाज को बुलंद करने वाले स्वर्गीय खुशहाल बहल पूर्व मंत्री पंजाब की सातवीं बरसी उनके परिवारिक सदस्यों ने श्रद्धापूर्वक स्थानीय गुरदासपुर पब्लिक स्कूल में मनाई गई। इस मौके स्कूल स्टाफ सदस्यों तथा उनके पारिवारिक सदस्यों की ओर से श्रद्धा सुमन अर्पित किये गये वहीं उनकी याद में जरुरतमंद लोगों को राशन भी वितरित किया गया।

स्वर्गीय खुशहाल बहल गुरदासपुर विधान सभा हलका से चार बार विधयाक रहे और तीन बार वह पंजाब मंत्री मंडल में बतौर सेवाएं निभाई। उन्होने ज्ञानी जैल सिंह मुख्यमंत्री पंजाब से लेकर कैप्टन अमरेंद्र सिंह मुख्य मंत्री पंजाब के साथ मंत्री के तौर पर काम किया। समारोह दौरान उनके सुपुत्र एसएस बोर्ड के चेयरमैन रमन बहल ने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि उन्हें अपने पिता से विरासत में जहां भौतिक चीजें प्राप्त हुई हैं, वहीं उनकी लोक सेवा को समर्पित सोच और निडरता वाले संस्कार विरसे में मिले हैं। मैं उनके कदरों कीमतों को अपनी कार्य प्रणाली का हिस्सा बनाकर लोगों में रह रहे हैं। आज समाज के हर क्षेत्र में गिरावट आ रही है वहीं राजनीति भी इससे अछूती नहीं है। आज सियासत में पैसे का प्रभाव और बहु बलियों का असर देखने को मिल रहा है. यही कारण है कि जम्हूरियत के होते हुए भी समाज में डर और भय देखने को मिल रहा है। समाज में भ्रष्टाचार, बेरोजगार, गरीब समाज प्रति बे इंसाफी जैसी समस्याएं खड़ी हैं। सियासी पार्टियां लोगों को जागरुक करने में असमर्थ हैं सिर्फ चुनाव लड़ कर सत्ता हासिल करनी ही सियासतदानों का उद्देश्य रह गया है। हमारी पीढी ने समाज से बहुत कुछ अच्छा प्राप्त किया है और हमारा फर्ज बनता है कि हम भी समाज सेवा में भरपूर योगदान डालें। उन्होने कहा कि मेरा लोगों के साथ वायदा है कि वह भी अपने पिता के पद् चिन्ह पर चलते हुए लोक सेवा को समर्पित राजनीति करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *