रोडवेज डिपो के मुलाजिमों ने दो घंटे बंद रखा बस स्टैंड

बटाला

रावी न्यूज बटाला

पंजाब रोडवेज-पनबस कांट्रैक्ट वर्कर यूनियन ने मांगों को लेकर शुक्रवार दो घंटे सुबह दस से 12 बजे तक के लिए बटाला बस स्टैंड को बंद करके पंजाब सरकार के खिलाफ धरना लगाकर प्रदर्शन किया। धरने को संबोधित करते हुए पंजाब जनरल सचिव बलजीत सिंह गिल और पंजाब उप प्रधान प्रदीप कमार ने बताया कि पंजाब सरकार मुलाजिमों के वादों को पूरा करने में नाकामयाब रही है। इसके रोष में बटाला बस स्टैंड में दो घंटे धरना प्रदर्शन किया गया। बस स्टैंड के सभी एंट्री प्वाइंट पर रोडवेज की बसें लगाकर रास्तों को बंद कर दिया गया था। इससे यात्रियों को परेशानियों को सामना करना पड़ा।

इस दौरान डिपो प्रधान परमजीत कोहाड़ ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा परिवहन विभाग के साथ कच्चे मुलाजिमों की मांगों को मनवाने संबंधी पिछले काफी समय से बैठकों का दौर चलता रहा, लेकिन किसी बात का नतीजा नहीं निकला। इस कारण समूह मुलाजिमों में भारी रोष पाया जा रहा है। वहीं पंजाब में मुख्यमंत्री को बदला जा रहा है। पंजाब सरकार को आठ दिन का वक्त दिया था, अब जबाव मिल रहा है कि मुख्यमंत्री का तबादला हो गया है। अभी भी मुख्यमंत्री के पद के लिए लड़ाई चल रही है, क्या पता आने वाले वक्त में फिर से मुख्यमंत्री चेंज हो जाए। अगर उनकी ठेके पर रखे कर्मचारियों को पक्का करने की मांग का हल ना किया गया तो 11, 12 व 13 अक्टूबर को जत्थेबंदी द्वारा पक्का धरना लगाया जाएगा। अगर सरकार द्वारा फिर भी उनकी मांग ना मानी गई तो संघर्ष को और तेज किया जाएगा। जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती, तब तक पनबस मुलाजिम पीछे नहीं हटेंगे। इस मौके पर सेक्रेटरी जगदीप सिंह, उप प्रधान गौरव कुमार, कैशियर जगरूप सिंह, चेयरमैन रजिदर सिंह, सरपरस्त रछपाल सिंह, प्रेस सचिव राजबीर सिंह, सह सेक्रेटरी प्रगट सिंह, सह कैशियर हरपाल सिंह और डिपो के सदस्य मौजूद थे। उधर, बस स्टैंड बंद होने से यात्रियों को बस स्टैंड के बाहर गुरदासपुर रोड, अमृतसर रोड व जालंधर रोड पर खड़ी प्राइवेट बसों का इंतजार करना पड़ा। यात्रियों की भारी संख्या होने पर बस में सीट ना मिलने जैसे परेशानियों का सामना करना पड़ा। गौर हो कि बटाला डिपो में पनबस की 80 बसें, पंजाब रोडवेज की 12 बसें हैं। इनमें से पांच बसें जालंधर, अमृतसर व गुरदासपुर रूट पर चलीं। बसों में खड़ा होकर करना पड़ा सफर

जालंधर जाने के लिए आए यात्री हरविंदर सिंह, कुलभूषण कुमार, चंद्र कांत, रजवंत सिंह ने कहा कि हम प्रतिदिन जालंधर काम के लिए जाते हैं। आज पंजाब रोडवेज की हड़ताल सुना था, लेकिन यहां आकर देखा कि जो प्राइवेट बसें हैं, वे आ-जा रही हैं। पंजाब रोडवेज की कुछ बसें नहीं दिख रही थीं। थोड़ी सी समस्या तो हुई, लेकिन बाद में प्राइवेट बस में यात्रियों की भीड़ लग गई। खड़ा होकर जाना पड़ेगा। इस दौरान जाम भी लग गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *