मगनरेगा कर्मचारियों ने किया रोष प्रदर्शन

Breaking News गुरदासपुर ताज़ा पंजाब राजनीति

रावी न्यूज

गुरदासपुर। मगनरेगा कर्मचारी यूनियन ने अमरजीत की अध्यक्षता में डीसी कार्यालय के समक्ष रोष प्रदर्शन किया।

अमरजीत ने बताया कि पंजाब में नरेगा मुलाजिम पिछले करीब 13 वर्षों से डयूटी कर रहे है। जिनकी मौजूदा संख्या 1875 के करीब है। समुचे नरेगा मुलाजिमों की भर्ती पूरे पारदर्शी तरीके से रेगुलर भर्ती के लिए अपनाए जाते तय मापदंडो अनुसार हुई है। इस लिए रेगुलर करने में कोई कानूनी अड़चन भी नहीं है। समूह मुलाजिम बहुत ही कम वेतन पर नौकरी से निकाल देने के डर से गुलामों वाली जिंदगी जी रह ेहै। नरेगा के तहत ही गांवों में अधिकतर विकास कार्य हुए है, चल रहे है या करवाने की तजवीज है। पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान 1600 करोड़ रुपए और चालू वित्तीय वर्ष के दौरान अब तक 650 करोड़ रुपए के करीब नरेगा के तहत पंजाब में खर्च हुए है। गांवों की भौतिक दशा नरेगा से सुधरी है। नरेगा मुलाजिमों को गरीबी रेखा से नीचे रह रहे ग्रामीण क्षेत्र के 18 लाख परिवारों को रोजगार मुहैया करवाया है, जिससे मुलाजिमों की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है।

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने सत्ता में आने से पहले अस्थायी मुलाजिमों को स्थायी करने का वायदा करके सत्ता हासिल की थी। पिछले साढे चार वर्षो के संघर्ष के दौरान पंजाब सरकार के पेंडू विकास व पंचायत विभाग के मंत्री व उच्चाधिकारियों द्वारा सभी मांगे मानकर, लागू करने का समय सीमा तय करके भी कोई समाधान नहीं किया। नरेगा मुलाजिम अपनी आयु का सबसे कीमती समय नरेगा लेखे लगा चुके है। अब कोई और भी रास्ता नहीं शेष रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *