बब्बेहाली ने लगाये चुनावों में धांधली के आरोप

राजनीति

रावी न्यूज

गुरदासपुर : नगर कौंसिल चुनाव में शिरोमणि अकाली दल ने ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप लगाए हैं। शिरोमणि अकाली दल (ब) के जिला प्रधान गुरबचन सिंह बब्बेहाली ने पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस काफ्रेंस में कहा कि पार्टी के उम्मीदवारों का यह एतराज है कि मतदान के बाद जब ईवीएम मशीनें सील की गई थीं। सभी मशीनों को सील करने के लिए सेलोटेप लगाई गई थी। जब मतदान के दिन मशीनें दिखाई गई तो उन पर सेलोटेप नहीं लगी हुई थी। इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस पार्टी ने हेराफेरी की है। उक्त आरोप को संबोधित करते हुए लगाए।

बब्बेहाली ने कहा कि इस हेराफेरी में केवल रिटर्निंग अधिकारी जिम्मेदार है। जिले का कोई भी बड़ा अधिकारी इसके पीछे जिम्मेदार नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी द्वारा पहले उनके उम्मीदवारों का नामांकन रद करवाने का प्रयास किया गया। जब वह सफल नहीं हुए तो जाली मतदान का प्रयास किया गया। जब वह भी नहीं हो सका तो अंत में मशीनों की सीलें तोड़कर हेराफेरी की गई। उन्होंने आरोप लगाया कि रिटर्निंग अधिकारी को चंडीगढ़ से तबादला करवा कर गुरदासपुर में लाया गया था। इसके बदले में उसने उक्त हेराफेरी की है। बब्बेहाली ने कहा कि उन्होंने पहले ही संदेह जताया था कि तीन दिनों में मशीनों में हेराफेरी हो सकती है। उन्होंने कहा कि हमारी यह गलती है कि मशीनों के बाहर अपने लोगों का पहरा नहीं बैठा सके। उनकी बैठकों में बड़ी संख्या में लोग आते थे, जबकि वोट 40-50 ही पड़े हैं। उम्मीदवार उनके घर में पहुंच कर एतराज जता रहे है कि उन्हें इतने कम वोट क्यों मिले हैं। उन्होंने दावा किया कि रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें 10 से 12 सीटें मिल रही थी। जबकि उन्हें बहुमत मिलने का विश्वास था। उन्होंने दावा किया कि उनके 27 नंबर वार्ड से उम्मीदवार द्वारा मशीन का नंबर नोट किया गया था, लेकिन मतगणना के दिन मशीन बदली हुई थी। इसी तरह अन्य कुछ वार्डों में भी मशीनों के नंबर मेल नहीं खा रहे थे।

वार्ड में 400 घर बनाकर दिए थे, वोट कम मिले

बब्बेहाली ने कहा कि नबीपुर कालौनी में उन्होंने कई 400 गरीब परिवारों को घर बनाकर दिए थे, जबकि वहां से भी उन्हें बहुत कम वोट मिले है,। क्योंकि जिन्हें घर मिला हो, वह वोट क्यों नहीं करेंगे। वार्ड नंबर 12 से अकाली दल की उम्मीदवार साहिब कौर ने आरोप लगाया कि उनकी वार्ड में 677 वोट पोल हुए थे, जबकि सभी लोगों को मिले वोट मिलाकर 12 वोट कम थे। इससे साबित होता है कि कोई हेराफेरी की गई है।

हार से बौखलाए बब्बेहाली लगा रहे झूठे आरोप : पाहड़ा

उधर यूथ कांग्रेस के जिला प्रधान एडवोकेट बलजीत सिंह पाहड़ा ने अकालियों के लगाए गए सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है। नबीपुर कालोनी में कम वोट पड़ने के आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यहां बाहर से लाकर लोगों को बसाया गया है। जिनके वोट आज भी आसपास के गांवों में है, जबकि शहर में नहीं है। बब्बेहाली अपनी हार कबूल करने के बजाए लोगों को गुमराह कर रहे हैं। -सभी पार्टियों के उम्मीदवारों की उपस्थिति में खोली व बंद की गई थी मशीनें : रिटर्निंग अधिकारी

रिटर्निंग अधिकारी निर्मल सिंह ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने बताया कि चुनाव के बाद जब मशीनों को स्ट्रांग रूम में लाक करके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *