बटाला नहीं बना जिला तो किया चकका जाम

बटाला

रावी न्यूज बटाला

पिछले लगभग ढाई दशकों से बटाला को जिला बनाने के लिए आवाज बुलंद करने वाली आजाद पार्टी तथा उसकी सहयोगी पार्टियों शिवसेना बाल ठाकरे और लोक इंसाफ पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह द्वारा बटाला को अपने कार्यकाल के दौरान जिला नहीं बनाए जाने के विरोध में वीरवार को प्रदर्शन करते हुए गांधी चौक में चक्का जाम किया। सुरिदर सिंह कलसी, रमेश नैयर तथा विजय त्रेहन के नेतृत्व में किए गए इस धरना प्रदर्शन में काफी संख्या में लोगों ने भाग लिया। इस दौरान कुछ समय के लिए गांधी चौक के चारों ओर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई और वाहन चालक प्रदर्शनकारियों से उलझते हुए भी देखे गए।

बाबा के विवाह पर्व पर पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह द्वारा बटाला को जिला ना बनाए जाने से खफा आजाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरिदर सिंह कलसी ने कैप्टन पर बरसते हुए कहा कि ऐतिहासिक शहर से दगा करने का खामियाजा आज महाराजा साहब को अपनी कुर्सी गंवाकर भुगतना पड़ रहा है। चरणजीत सिंह चन्नी सरकार में सुखजिदर सिंह रंधावा को उप मुख्यमंत्री बनाए जाने पर बधाई देते हुए कलसी ने रंधावा को याद दिलाया कि आपने अपने साथी कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिदर सिंह बाजवा के साथ मिलकर दो बार कैप्टन को बटाला को जिला बनाने के लिए पत्र लिखा था, जिसकी मीडिया में काफी चर्चा हुई थी। इसलिए अब बटाला को जिला बनाने की मांग शहर वासियों की ही नहीं रही यह आपकी अपनी मांग बन चुकी है। इसीलिए आप अपनी यह मांग खुद पूरी करें और बटाला को 30 सितंबर तक जिला घोषित करें।

इस दौरान शिवसेना बाल ठाकरे के प्रांत उपाध्यक्ष रमेश नैय्यर और लोक इंसाफ पार्टी के विजय त्रेहन ने संयुक्त रूप से कहा कि बटाला जिला बनने की हर शर्ते पूरी करता है। यह स्वयं उपमुख्यमंत्री सुखजिदर सिंह रंधावा और पिछले लगभग साढे़ चार वर्ष से बटाला में घूम रहे तृप्त राजिदर सिंह बाजवा भली भांति जानते हैं, इसलिए माझा के ये दोनों जरनैल मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से बटाला को तुरंत जिला घोषित करवाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *