प्रेम संबंधों के बीच आया बेटा, मां ने आशिक के साथ मिल कर मार डाला, पुलिस ने मृतक की मां और उसके आशिक को किया काबू

Breaking News क्राइम पंजाब

रावी न्यूज

गुरदासपुर। गत दिवस काहनूवान क्षेत्र में पड़ती ड्रेन से व्यक्ति का अध जला शव मिला था। जिसे लेकर इलाके में दहशत वाला माहौल पैदा हो गया था। पुलिस की जांच में पता चला है कि मृतक की मां के एक व्यक्ति के साथ अवैध संबंध थे जिसके चलते मां ने अपने आशिक के साथ मिल कर अपने ही जवान बेटे के मौत के घाट उतार डाला।

जानकारी देते हुए एसएसपी गुरदासपुर डा. नानक सिंह ने बताया कि 23 मई को उन्हें सूचना मिली थी कि काहनूवान क्षेत्र में पड़ती एक ड्रेन में एक व्यक्ति का अध जला शव बरामद हुआ था। जिस संबंध में काहनूवान थाना में वि•िान्न धाराओं के साथ मामला दर्ज कर लिया था। बरामद हुई लाश से लगता था कि उसका बहुत ही बेरहमी के साथ कत्ल कर उस लाश को खुर्द बुर्द करने की कोशिश करते हुए उसे जलाने की •ाी कोशिश की है। पुलिस ने बताया कि इस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए मामले की जांच शुरु कर दी, पूरा मामला काफी पेचीदा और उलझा हुआ लग रहा था। एसएसपी ने बताया कि जांच करने के बाद मरने वाले व्यक्ति कि शिनाख्त की गई। मरने वाला व्यक्ति रणदीप सिंह उर्फ बोबी उम्र करीब 26 साल पुत्र कुलवंत सिंह निवासी बलवंडा का रहने वाला था। मरने वाले युवक के कपड़ों तथा शव की शिनाख्त के लिए उसके घर पहुंच कर उसकी मां को कहा गया। जिस पर पहले तो उसकी मां ने उसकी शिनाख्त करने से साफ मना कर दिया। पुलिस ने जब उस पूरे मामले की गहराई केसाथ जांच की तो सामने आया कि मृतक की माता रुपेंद्र जीत कौर के सुखविंदर सिंह उर्फ गौरा पुत्र शिंगारा सिंह निवासी चक्क शरीफ केसाथ पिछले छह माह से अवैध संबंध थे।

मृतक की माता रुपेंद्र कौर ने सुखविंदर सिंह और उसके दोस्त गुरजीत सिंह के साथ मिल कर रणदीप सिंह का अपने घर में बेरहमी केसाथ कत्ल कर दिया। सबूत मिटाने के लिए लाश को गांव झंडा गुज्जरां की ड्रेन में जाकर फेंक दिया। कत्ल होने के दो दिन से रुपेंद्र कौर अपने प्रेमी सुखविंदर सिंहके साथ मिल कर रणदीप को नींद की गोलियां देरी रही ताकि वह बेहोशी की हालत में रहे और फिर वह उसे कत्ल कर सकें.

पुलिस ने मामले को सुलझाते हुए रुपेंद्रजीत कौर पत्नी कुलवंत सिंह निवासी बलवंडा और सुखविंदर सिंह उर्फ सुक्खा उर्फ गौरा पुत्र शिंगारा सिंह निवासी चक्क शरीफ को गिरफ्तारकर लिया। इस कत्ल की घटना को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल किया गया हथौड़ा, सुखविंदर सिंह की ओर से इस्तेमाल की गई छुरी और कार को पुलिस की ओरसे बरामद कर लिया गया है। तीसरे दोषी गुरजीत सिंह उर्फ महिकी पुत्र जसपाल सिंह निवासी चक्कर की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *