पुलिस का बर्खास्त हेड कांस्टेबल ट्रक चालकों था लूटता, 20 से ज्यदा मामले दर्ज हैं कांस्टेबल पर

दुनिया

रावी न्यूज

अमृतसर। लुधियाना, जालंधर, कपूरथला और होशियारपुर में लूटपाट की बीस से ज्यादा वारदातों को अंजाम देने वाले पंजाब पुलिस के बर्खास्त हेड कांस्टेबल को जंडियाला गुरु पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित रात के समय सड़क पर चल रहे ट्रक चालकों को घेरकर अपना निशाना बनाता था और उनके पैसे लूटकर फरार हो जाता था। जंडियाला गुरु पुलिस ने पकड़े गए आरोपित की पहचान कपूरथला स्थित बरिडपुरा गांव निवासी सुरिदरपाल सिंह उर्फ पाला के रूप में बताई है। आरोपित के कब्जे से वारदात में इस्तेमाल की जाने वाली एक्टिवा, पुलिस की वर्दी, पंच और चाकू बरामद किया गया है।

जंडियाला थाना प्रभारी हरचंद सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि सूचना मिली थी कि साल 2005 में पंजाब पुलिस (कपू्रथला) से बर्खास्त हो चुका हेड कांस्टेबल सुरिदरपाल सिंह पाला शनिवार तड़के पुलिस की वर्दी में खलचियां के पास ट्रक (यूटी बीटी -5312) के चालक को लूट रहा है। छापामारी करते हुए पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बाद में उसकी निशानदेही पर एक्टिवा भी बरामद की गई। पूछताछ में आरोपित पाला ने स्वीकार किया है कि ड्यूटी के दौरान (साल 2005) वह लूटपाट की वारदातों को अंजाम देता रहा है। इसी कारण उसे विभाग से बर्खास्त कर दिया गया था। इसके बाद उसने रात में ट्रक चालकों को रोककर लूटना शुरू कर दिया। उसके खिलाफ बीस से ज्यादा मामला दर्ज हैं। थाना प्रभारी हरचंद सिंह ने बताया कि आरोपित की गिरफ्तारी के बाद कई मामले सुलझ चुके हैं। सुरिंदरपाल का आपराधिक रिकार्ड

थाना तिथि अपराध

शहीद भगत सिंह नगर 2005 लूट

शहीद भगत सिंह नगर 2005 चोरी

फिल्लौर 2010 फर्जी दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी

शहीद भगत सिंह नगर 2005 लूट

मकसूदां (जालंधर) 2013 चोरी और धोखाधड़ी

मकसूदां (जालंधर) 2013 नशा तस्करी

साहनेवाल (लुधियाना) 2016 चोरी

अमृतसर देहाती (ब्यास) 2002 चोरी

सलेम टाबरी (लुधियाना) 2013 धोखाधड़ी

सलेम टाबरी (लुधियाना) 2014 धोखाधड़ी

सदर (लुधियाना) 2015 चोरी

सदर (लुधियाना) 2015 फर्जी दस्तावेजों पर धोखाधड़ी

डिवीजन-7 (लुधियाना) 2016 लूटपाट

लाडोवाल (लुधियाना) 2016 लूटपाट

जोधेवाल(लुधियाना) 2012 लूटपाट

सदर (खन्ना) 2016 लूटपाट

थाना-7(लुधियाना) 2004 लूटपाट

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.