पाकिस्तानी विवाहताओं को सुखजिन्द्न रंधावा से उम्मीद भारतीय नागरिकता के लिये अब नहीं होना पड़ेगा परेशान

गुरदासपुर

रावी न्यूज कादियां

पंजाब के उप-मुख्यमंत्री सुखजिन्द्न सिंह रंधावा से पाकिस्तानी विवाहताओं को जो ज़िले में पाकिस्तान से ब्याह कर यहां रह रही हैं काफी उम्मीदें हैं। किरन सरजीत जोकि सियालकोट की रहने वाली है तथा पंजाब में ब्याह कर आई हुई है उसके समेत अनेक पाकिस्तानी विवाहताओं ने सुखजिन्द्न सिंह रंधावा को उप-मुख्यमंत्री बनने पर मुबारकबाद दी है। इन पाकिस्तानी विवाहताओं का कहना है चढ़दे तथा लहंदे पंजाब के लोगों की सभ्यता, बोली तथा खानपान सभी का एक तरह का है। सरहदी लकीरों की यदि मिटा दिया जाये तो कोई भी अंतर इन दो राज्यों में देखने को नहीं मिलेगा। इन विवाहताओं ने कहा सुखजिन्द्न सिंह रंधावा पवित्र भूमि डेरा बाबा नानक हल्का के विधायक हैं जोकि श्री गुरू नानक देव जी महाराज की धरती है। इसी धरती के साथ गुरूदवारा श्री करतारपुर साहिब है जहां पर श्री गुरू नानक देव जी ने जीवन का अंतिम समय गुज़ारा था। उन्होंने कहा कि दोनों पंजाब के लोगों का आपस में गहरा रिश्ता है। तथा दोनों देशों के लोग अब भारतीय पंजाब में रिश्ते कर रहे हैं। परन्तु भारतीय नागरिकता के लिये जो 7 वर्ष का समय निर्धारित है परन्तु नागरिकता का आवेदेन देने तथा सभी औपचारिकतायें पूरी करने के बावजूद कई कई साल भारतीय नागरिकता दिये जाने में लगा दिये जाते हैं। कादियां के ही काफी केस हैं जोकि अधर में लटके हुये हैं। सभी कारवाई अब आन-लाईन की जा रही है। परन्तु काफी समय बीत जाने के बावजूद मामला जहां से शुरू हुआ था वहीं अटका पड़ा है। मामले मे हो रही देरी के बारे में एक ज़िम्मेदार कर्लक ने बताया कि पहले कागज़ी कारवाई फाÞईलों को चंंडीगढ़ तथा दिल्ली भेज कर की  जाती थी परन्तु अब डिजीटल जÞमाना आ जाने के कारण सभी काग़ज़ी कारवई आन लाईन की जाने लगी हैं। ज़िला गुरदासपुर में भारतीय नागरिकता के आवेदकों की लगभग आधे दर्जन लोगों के आवेदन लटके हुये हैं। इस में हो रही देरी का कारण ज़िलाधीश का लागन आई डी न बनने के कारण लटका हुआ है। लागन आई बनाने में लगभग तीन माह का समय बीत चुका है परन्तु पाकिस्तानी विवाहताओं को अपनी भारतीय नागरिकता में हो रही देरी को लेकर चिंतायें बढ़ना स्वाभाविक है। क्योंकि पाकिस्तानी पासपोर्ट जिसकी अवधि समाप्त होने पर पाकिस्तान दूतावास नई दिल्ली जो पासपोर्ट जारी करता है उसकी अवधि एक वर्ष की होती है। पर भारतीय नागरिकता दिये जाने में हो रही अनावश्यक देरी के चलते पासपोर्ट की अवधि समाप्त हो जाती है तथा आवेदक को बार बार पाकिस्तानी पासपोर्ट अपने लंबी अवधि के वीज़ा के लेने के लिये रीनियो करवाने पाकिस्तानी दूतावास के चक्कर काटने पड़ते है्। किरण सरजीत तथा परविन्द्न सिंह ने उप-मुख्य मंत्री सुखजिन्द्न सिंह रंधावा से अपील की है कि अब उनके पास पावर है तथा वह अपने ज़िले तथा पंजाब के अन्य इलाकों में रह रही पाकिस्तानी विवाहताओं की भारतीय नागरिकता में हो रही देरी का मामला गृह मंत्रालय के पास उठाकर उनकी समस्याओं का समाधान करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *