पंजाब भर में मनाया गया राष्ट्रीय स्वैच्छिक खूनदान दिवस

चंडीगढ़ ताज़ा

रावी न्यूज चंडीगढ़ (गुरविंदर सिंह मोहाली)
पंजाब भर में राष्ट्रीय स्वैच्छिक खूनदान दिवस बहुत उत्साह के साथ मनाया गया।
इस सम्बन्धी पंजाब के उप मुख्यमंत्री श्री ओ पी सोनी ने बताया कि पंजाब में राष्ट्रीय खूनदान दिवस के मौके पर 16 खूनदान कैंप लगाए गए, जिनमें 1150 यूनिट ख़ून इकट्ठा किया गया। उन्होंने कहा कि स्वैच्छिक खूनदान को उत्साहित करना ख़ून की सुरक्षा को बढ़ाने की मुख्य रणनीति है। श्री आ.ेपी. सोनी, उप मुख्यमंत्री, पंजाब ने कहा कि कोविड-19 महामारी के समय दौरान राज्य ने ब्लड सेंटरों में खूनदान में गिरावट देखी है। इस समय में कई कारण, जैसे कि सर्जरियों को स्थगित करना और चुनी हुई प्रक्रियाओं आदि के कारण ख़ून की ज़रूरत में भी कमी आई है, फिर भी अलग-अलग हीमोग्लोबिनोपैथी से पीड़ित लोगों के लिए ख़ून की निरंतर ज़रूरत है, जैसे कि प्रसूति के दौरान एमरजैंसी ज़रूरतें, सड़क आवाजाही दुर्घटनाओं आदि समय पर ज़रूरत है।
हालाँकि, कोरोना महामारी के इन चुनौतिपूर्ण समय में भी खूनदानियों ने ख़ून की कोई कमी नहीं आने दी और तालाबन्दी के दौरान भी वह सरकार द्वारा जारी किये गए विशेष पासों के साथ ज़रूरतमंदों के लिए खूनदान करते रहे।
उन्होंने कहा कि इस साल की मुहिम का राष्ट्रीय स्वैच्छिक खूनदान दिवस मनाने का मकसद ‘‘साल भर खूनदान की ज़रूरत को पूरा करना, अपेक्षित सप्लाई बनाये रखना, समय पर पहुँच करना और सुरक्षित ख़ून चढ़ाना यकीनी बनाना है।’’
उप मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि खूनदान, जो स्वैच्छिक और निःर्स्वाथ है, किसी भी अच्छे कारण के लिए और बिना किसी दबाव के खूनदान करना एक महान दान माना जाता है। अपनी मर्ज़ी से खूनदान करने वाला व्यक्ति ही समाज का असली नायक होता है। क्योंकि उनका दान किया ख़ून बहुत सी जानें बचा सकता है। उन्होंने लोगों को अधिक से अधिक खूनदान करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि पंजाब के सभी सरकारी अस्पताल मरीज़ों को मुफ़्त ख़ून की सुविधा प्रदान कर रहे हैं।
सभी स्वैच्छिक खूनदानियों ख़ास कर नौजवानों से अपील की जाती है कि वह खूनदान के अपने कीमती जीवन बचाने वाले तोहफ़े को खूनदान केन्द्रों द्वारा 1 अक्तूबर, 2021 से 31 अक्तूबर, 2021 और भविष्य में घटाने के लिए आयोजित किये जा रहे स्वैच्छिक खूनदान कैंपों में योगदान डालें।
पंजाब स्टेट एडज़ कंट्रोल सोसायटी के प्रोजैक्ट डायरैक्टर श्री अमित कुमार ने बताया कि लोगों की सुविधा के लिए पंजाब में 141 लायसैंसशुदा ब्लड सैंटर हैं, जिनमें से 46 सरकार द्वारा चलाए जाते हैं, 6 मिलिट्री द्वारा, और 89 प्राईवेट अस्पतालों द्वारा और संस्थाओं के द्वारा चलाए जाते हैं। इसके इलावा, 101 ब्लड सेंटरों में ब्लड कम्पोनेंट सेपरेशन की सुविधा है। इस सुविधा के साथ दान किया गया एक यूनिट चार कीमती जानें बचा सकता है।
पंजाब स्टेट एडज़ कंट्रोल सोसायटी के अतिरिक्त प्रोजैक्ट डायरैक्टर डा. बोबी गुलाटी ने कहा कि पंजाब भारत सरकार की तरफ से निर्धारित लक्ष्य से अधिक ख़ून एकत्रित कर रहा है। साल 2020 -21 में ख़ूनदानी ग़ैर सरकारी संगठनों और ख़ून केन्द्रों के सहयोग से कुल 3,79,846 ख़ून यूनिट एकत्रित किये गए थे। ब्लड ट्रांसफ्युज़न सर्विसेस के ज्वाइंट डायरैक्टर डा. सुनीता देवी ने बताया कि स्वैच्छिक खूनदान सुरक्षित है।
—-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *