पंजाब पुलिस 4358 कांस्टेबलों की भर्ती के लिए पारदर्शी और निष्पक्ष परीक्षाओं के लिए पूरी तरह तैयार 25 और 26 सितम्बर को होने वाली परीक्षा में 4.71 लाख से अधिक उम्मीदवारों के आने की उम्मीद

Breaking News चंडीगढ़

रावी न्यूज चंडीगढ़

गुरविंदर सिंह मोहाली

जिला और आर्म्ड काडरों में कांस्टेबल के पदों की लिखित परीक्षा के लिए 4.71 लाख से अधिक उम्मीदवारों के आने की संभावना के चलते पंजाब पुलिस इस विशाल भर्ती मुहिम अधीन परीक्षा को निर्विघ्न और सुचारू ढंग के साथ आयोजित करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

एडीजीपी-कम-कांस्टेबलों के लिए केंद्रीय भर्ती बोर्ड की चेयरपर्सन गुरप्रीत कौर दियो ने बताया कि ज़िला और आर्म्ड काडर में कांस्टेबल के 4358 पदों के लिए 4,71,007 उम्मीदवारों को प्रवेश पत्र जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि 25 और 26 सितम्बर 2021 को होने वाली लिखित परीक्षा दो शिफ्टों में ली जा रही है, जिसमें सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे और दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे की शिफ्टें शामिल हैं।

एडीजीपी गुरप्रीत कौर दियो ने कहा, “सुचारू और निर्विघ्न ढंग के साथ परीक्षाओं के आयोजन को यकीनी बनाने के लिए, राज्यभर में 187 परीक्षा केंद्र निर्धारित किये गए हैं और इन केन्द्रों में सम्बन्धित जिलों की तरफ से सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किये जा चुके हैं।“

उन्होंने कहा कि लिखित परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवारों को बोर्ड की तरफ से फिजिकल ट्रायल और दस्तावेज़ों की तस्दीक के लिए बुलाया जायेगा।

पारदर्शी और निष्पक्ष परीक्षाओं को यकीनी बनाने के लिए पुख़्ता प्रबंध

एडीजीपी गुरप्रीत कौर दियो ने कहा कि यह यकीनी बनाने के लिए कि सभी परीक्षाएं निष्पक्ष और पारदर्शी ढंग के साथ आयोजित हो रही हैं, पंजाब पुलिस ने इन परीक्षाओं को आयोजित करने के लिए एक प्रसिद्ध आईटी सलाहकार कंपनी नियुक्त की है। उन्होंने आगे कहा कि लिखित परीक्षा में निष्पक्षता और पारदर्शिता को बनाए रखने के लिए यह कंपनी कड़े सुरक्षा उपाय यकीनी बना रही है।

हालाँकि, लिखित परीक्षाओं सम्बन्धी ‘क्या करें और क्या न करें’, को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर पंजाब पुलिस के अधिकृत पेजों के द्वारा व्यापक तौर पर प्रसारित किया जा रहा है, एडीजीपी ने दोहराते हुए कहा कि सभी उम्मीदवार समय पर अपने सम्बन्धित परीक्षा केंद्र पर पहुँचें, नहीं तो गेट बंद होने के बाद उनको दाखि़ल नहीं होने दिया जायेगा।

उन्होंने यह भी स्पष्शट किया कि उम्मीदवार परीक्षा में दाखि़ल होने के लिए अपना ऐडमिट कार्ड, एक पासपोर्ट आकार का रंगीन फोटो, असली पहचान पत्र जैसे कि आधार कार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या वोटर आईडी कार्ड साथ लेकर आएं।

एडीजीपी गुरप्रीत दियो ने बताया कि इन्टरनेट या ब्लूटुथ कनेक्टिविटी को रोकने के लिए सभी परीक्षा केन्द्रों में जैमर लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों की जांच के लिए और परीक्षा दौरान चौकसी बनाए रखने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किया गया है।

उन्होंने कहा कि यदि कोई भी उम्मीदवार नकल या कोई अन्य धोखाधड़ी वाली गतिविधियों में शामिल पाया  गया तो उसके विरुद्ध सख़्त कार्रवाही की जायेगी।

इस दौरान, उम्मीदवारों को यह भी सलाह दी गई है कि कुछ धोखेबाज़ और घौटालेबाज़, भोले-भाले व्यक्तियों को धोखा देकर परीक्षा प्रक्रिया का नाजायज फ़ायदा उठाने की कोशिश कर सकते हैं और यह विश्वास दिला सकते हैं कि नौकरियाँ किसी भी गलत तरीके /पैसे देकर प्राप्त की जा सकती हैं। कृपया याद रखें कि ऐसे सभी वादे बिल्कुल झूठे हैं और यदि कोई व्यक्ति के ऐसी गतिविधियों में शामिल होने बारे पता लगता है तो तुरंत पुलिस को 181 पर सूचित करें। यह हेल्पलाइन नंबर लोगों की सहायता के लिए 24×7 उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *