पंजाब को राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण में मिला पहला पुरस्कार, डॉ. वेरका द्वारा पेडा के प्रयासों की सराहना

चंडीगढ़

रावी न्यूज चंडीगढ़

पंजाब में ऊर्जा संरक्षण और ऊर्जा दक्षता उपायों के क्षेत्र में महत्वपूर्ण उपलब्धियों को मान्यता देते हुए भारत सरकार ने पंजाब ऊर्जा विकास एजेंसी (पेडा) को स्टेट परफॉरमेंस अवॉर्ड (ग्रुप 2) में पहला पुरस्कार दिया है। यह अवॉर्ड श्री के.ए.पी. सिन्हा, प्रमुख सचिव, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत विभाग और पेडा के चेयरमैन श्री एच.एस. हंसपाल द्वारा आज विज्ञान भवन, नई दिल्ली में केंद्रीय विद्युत, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री आर.के. सिंह से प्राप्त किया गया। इस अवसर पर पेडा के डायरैक्टर श्री एम.पी. सिंह, सीनियर मैनेजर श्री परमजीत सिंह और प्रोजैक्ट इंजीनियर श्री मनी खन्ना भी उपस्थित थे।

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए श्री के.ए.पी. सिन्हा ने बताया कि यह पुरस्कार राज्य द्वारा विभिन्न क्षेत्रों जैसे कि भवनों, उद्योगों, नगर पालिकाओं, कृषि, डिस्कॉम, परिवहन आदि में ऊर्जा संरक्षण एवं ऊर्जा दक्षता के विषय पर किए जा रहे अग्रणी कार्यों के लिए दिया गया है। राज्य में ऊर्जा संरक्षण गतिविधियों के प्रभाव के बारे में रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2019-20 में 9,98,000 मेगावॉट ऊर्जा बचाई गई। 2.16 लाख ऊर्जा कुशलता वाले बी.ई.ई. 4-स्टार रेटिंग वाले खेती पम्प-सेट लगाए गए। पंजाब ईसीबीसी को लागू करने में अग्रणी है, 80 से अधिक सामथ्र्य निर्माण प्रोग्राम करवाए गए, ईसीबीसी और ग्रीन बिल्डिंग को प्रोत्साहित करने में अग्रणी राज्य, पंजाब कृषि और ग़ैर-कृषि क्षेत्रों के लिए डिस्कॉम द्वारा चलाए गए डीएसएम प्रोग्रामों में अग्रणी प्रदर्शन करने वाले राज्यों में से एक है। पंजाब उन राज्यों में से एक है जिसके पास डीएसएम सैल के कामकाज के लिए समर्पित बजट व्यवस्था है।

पेडा राज्य में सरकारी स्कूलों और केवीज़/जेएनवीज़ में ऊर्जा दक्षता गतिविधियों को भी लागू कर रहा है और 188 सरकारी स्कूलों में अधिक बिजली उपभोग करने वाले उपकरणों को बीईई ऊर्जा कुशल विद्युत उपकरणों के साथ बदला गया है, ग्रामीण पीने वाले पानी के पम्पिंग सिस्टम में 22 मौजूदा पुराने ज्य़ादा बिजली उपभोग करने वाले पम्प-सैट्स को ऊर्जा कुशल 5 स्टार पंप-सेट्स के साथ बदला गया है, जिससे पंजाब राज्य में अलग-अलग क्षेत्रों में ऊर्जा संरक्षण और ऊर्जा दक्षता उपायों को लागू करके 2019-20 के दौरान 562 एमयूज़ ऊर्जा की बचत हुई है।

उन्होंने राज्य में ऊर्जा संरक्षण उपायों और ऊर्जा दक्षता प्रोग्राम को लागू करने के लिए पेडा ऊर्जा संरक्षण डिवीज़नों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, डायरैक्टर, अधिकारियों, इंजीनियरों और अन्य सम्बन्धित विभागों के प्रयासों की सराहना की।

इस दौरान, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्री डॉ. राज कुमार वेरका ने राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कारों के दौरान देश में स्टेट परफॉरमेंस अवार्ड में पहला पुरस्कार प्राप्त करने की इस शानदार उपलब्धि के लिए पेडा और अन्य सम्बन्धित विभागों के प्रयासों की सराहना की।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.