पंजाब के बेड़े में शामिल होंगी 842 बसें; 250 बसों की पहली खेप आएगी इस महीने: अमरिन्दर सिंह राजा वडि़ंग

Breaking News

साफ-सफ़ाई को सुनिश्चित बनाने के लिए जनरल मैनेजर रोज़ाना करेंगे कम से कम पाँच बसों की चैकिंग

रावी न्यूज चंडीगढ़ (गुरविंदर सिंह मोहाली)

पंजाब के परिवहन मंत्री स. अमरिन्दर सिंह राजा वडि़ंग ने आज यहाँ बताया कि सार्वजनिक बस सेवा को और मज़बूत करते हुए सरकारी बसों के बेड़े में 842 और बसें जल्द ही शामिल की जाएंगी।

परिवहन विभाग के समूह आर.टी.ए. सचिवों और बस डिपूओं के जनरल मैनेजरों की साप्ताहिक कारगुज़ारी की समीक्षा बैठक के दौरान स. राजा वडि़ंग ने बताया कि 842 बसें डालने सम्बन्धी टैंडर लग चुका है और विभाग के अधिकारियों और बसें मुहैया कराने वाली कंपनियों को अगली कार्यवाही जल्द से जल्द अमल में लाने की हिदायत की गई है। उन्होंने बताया कि इस अक्टूबर महीने के अंत तक 250 बसों की पहली खेप राज्य में आ जाएगी, जबकि नवंबर के आखिर तक 592 बसें मिल जाएंगी, जो अगले डेढ़ महीने के दौरान राज्य की सडक़ों का श्रृंगार बनेंगी।

पिछले दिनों शुरु किए गए बस अड्डों की सफ़ाई मुहिम को निरंतर जारी रखने के निर्देश देते हुए परिवहन मंत्री ने अधिकारियों को बस अड्डों में हर पन्दरवाड़े साफ-सफ़ाई सुनिश्चित बनाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि बस अड्डों के दौरे के मौके पर सफ़ाई ठेकेदारों द्वारा कोताही बरतने की शिकायतें मिली हैं, इसलिए डिपूओं के जनरल मैनेजर सफ़ाई सम्बन्धी नियमों और शर्तों का उल्लंघन करने वाले ठेकेदारों को कारण बताओ नोटिस जारी करें और दोबारा कोताही बरतने पर जुर्माने की व्यवस्था करें, जिससे बस अड्डों की साफ-सफ़ाई हर हाल में सुनिश्चित बनाई जा सके। उन्होंने कहा कि बस अड्डों से बाहर के क्षेत्र में भी नाजायज़ कब्ज़े हटाने के लिए भी कार्यवाही आरंभ की जाए।

उन्होंने जनरल मैनेजरों को बसों की साफ-सफ़ाई सुनिश्चित बनाने के लिए जहाँ रोज़ाना की कम से कम पाँच बसों की चैकिंग करने के निर्देश दिए, वहीं आने वाले शुक्रवार तक सरकारी बसों से तंबाकू उत्पादों और अन्य नशों को प्रोत्साहित करने वाले सभी विज्ञापन उतारने की हिदायत भी की। उन्होंने विभाग के रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के सचिवों को भी हिदायत की कि जब भी वह किसी ग़ैर-कानूनी ढंग से चल रही बस को पकड़ें तो उसकी मुकम्मल वीडियोग्राफ़ी यकीनी बनाई जाए।

मीटिंग के दौरान मंत्री ने किसी भी किस्म की शिकायत और सुझाव देने के लिए अपना निजी वाट्सऐप नंबर 94784-54701 भी जारी किया। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह जहाँ कहीं भी सरकारी बसों में कमी देखें तो तुरंत उसकी सूचना या तस्वीर इस वाट्सऐप नंबर पर साझा करें।

प्राईवेट शैक्षिक संस्थाओं के विद्यार्थियों के लिए बस पास स्कीम लागू करने की संभावनाएं तलाशने सम्बन्धी विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए स. वडि़ंग ने कहा कि जब प्राईवेट संस्थाओं के विद्यार्थियों को वज़ीफ़ा स्कीमों आदि का लाभ दिया जा सकता है, तो इनके लिए बस पास जारी करने के बारे में भी विचार किया जाए।

परिवहन मंत्री ने बैठक के दौरान फिर दोहराया कि विभाग में किसी किस्म की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसलिए कंडक्टर से लेकर उच्च अधिकारी तक सभी अपनी ड्यूटी बिना किसी डर के निभाएं।

इस मौके पर विभाग के प्रमुख सचिव श्री के. सिवा प्रसाद, स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डॉ. अमरपाल सिंह, डायरैक्टर स्टेट ट्रांसपोर्ट स. भुपिन्दर सिंह राय, एम.डी. पी.आर.टी.सी. डॉ. भुपिन्दर पाल सिंह समेत विभाग के समूह सचिव आर.टी.ए, जी.एम. और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *