किसान आंदोलन के चलते भाजपा की सरगर्मियां हुई पस्त , 13 वार्डों में से सिर्फ़ 4 वार्डों में भाजपा के उम्मीदवार चुनाव मैदान में

दुनिया

रावी न्यूज

फतेहगढ़ चूड़ियां। जैसे ही नगर कौंसिल चुनाव निकट आ रहे हैं, उसको देखते हुए अलग-अलग सियासी पार्टियों की तरफ से लोगों के घरों तक दस्तक देने के लिए अपनी दौड़ को तेज़ कर दिया गया है, परन्तु इसके बीच फतेहगढ़ चूड़ियां में भाजपा जो अपने आप को देश की राष्ट्रीय पार्टी मानती है, की किसान आंदोलन के चलते सरगर्मियों पस्त होकर रह गई हैं, चूंकि केंद्र की मोदी सरकार की तरफ से लागू किये गए तीन कृषि कानूनों को लेकर लोगों के मन में भारी गुस्सा डाला जा रहा है और स्थानीय लोगों की तरफ से गलियों, मुहल्लों और घरों के बाहर भाजपा के बाइकाट वाले पोस्टर लगा दिए गए हैं।
बताते चले कि गत दिनों भाजपा के जिलाद्यक्ष रकेश भाटिया की तरफ से फतेहगढ़ चूड़ियां की 13 वार्डों में 12 उम्मीदवारों का ऐलान किया गया था, जबकि एक उम्मीदवार का ऐलान होना बाकी रह गया था और नामांकन पत्र दाखिल करने के अंतिम दिन भाजपा के कुल 8 उम्मीदवारों ने अपने नामांकन पत्र दाखिल करवाई थे, जिस के बाद जांच दौरान भाजपा के 3 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र रद्द हो गए थे, जबकि वार्ड नंबर 9 से भाजपा की तरफ से चुनाव मैदान में उतारे गए उम्मीदवार जोगिन्दरपाल की तरफ से अपने नामांकन पत्र वापिस ले लिए गए थे, जिसके बाद भाजपा के कुल 4 उम्मीदवार चुनाव मैदान में बाकी रह गए हैं। फतेहगढ़ चूड़ियां शहर में भाजपा की बुरी हालत को लेकर मंडल अध्य्क्ष और ज़िला नेताओं की कारगुज़ारी पर प्रश्न उठने शुरू हो गए हैं और इन चुनावों में भाजपा नेता चुनाव हाशीए से गायब हैं, जबकि भाजपा का कोई बड़ा नेता चुनाव में सक्रिय दिखाई नहीं दे रहा। इस लिए अब मुकाबलो की दौड़ में कांग्रेस, अकाली दल और आम आदमी पार्टी हैं, जबकि मुख्य तौर पर मुकाबला कांग्रेस व अकाली दल के बीच है। गौरतलब है कि इन चुनावों में जो भाजपा के उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, उन में से मंडल अध्य्क्ष हरीश अरोड़ा की पत्नी को छोड़ कर बाकी 3 उम्मीदवार भाजपा कॉडर के अनजान चेहरे हैं। बता दें कि फतेहगढ़ चूड़ियों में पिछले लंबे समय से भाजपा की हालत काफ़ी नाजुक बनी हुई है और एक ही चेहरे बार-बार भाजपा की मीटिगों में देखे जाते हैं, जबकि स्थानीय नेताओं की तरफ से अब तक फतेहगढ़ चूड़ियां में भाजपा का बड़े स्तर पर कोई विस्तार नहीं किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *