करोड़ों की ठगी करने वाली कंपनी किम के खिलाफ लोगों ने किया रोड मार्च

Breaking News क्राइम ताज़ा पंजाब होम

गुरदासपुर, 15 जून । करोड़ों की ठगी करने वाली किम कंपनी के पांच लोगों के खिलाफ हुए दर्ज हुए मामले के बाद पुलिस ने कंपनी के एक आरोपी डायरेक्टर गुरदीप सिंह को कुछ दिन पहले गिरफ्तार किया था, उसे आज तीन दिन का पुलिस रिमांड खत्म होने के बाद कोर्ट में पेश किया गया। जहां पुलिस ने फिर से तीन दिन का ओर रिमांड हासिल किया है। वहीं किम कंपनी से ठगी का शिकार हुए सैकड़ों लोगों को जब इस संबंधी जानकारी मिली तो वह कोर्ट परिसर में इकट्ठे हुए और कंपनी के मालिक तथा अन्य लोगों के खिलाफ नारेबाजी के साथ साथ नगर में रोष मार्च किया।

गौरतलब है कि 21 अप्रैल 2021 को सर्वजीत सिंह पुत्र प्रीतम सिंह निवासी नौशहरा पुराना शाला के बयान पर किम कंपनी के पांच लोगो जिसमें कंपनी के मालिक सहित अन्य डायरेक्टर के खिलाफ धारा 420, 406,120 बी के तहत मामला दर्ज किया था। जिसके बाद पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही थी। कुछ दिन पहले सिटी पुलिस ने एक आरोपी गुरदीप सिंह पुत्र जसवंत सिंह निवासी निक्का सिंह कालोनी अमृतसर जिसे की कंपनी का डायरेक्टर बताया जा रहा है को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद उक्त आरोपी को कोर्ट में पेश कर तीन दिन का पुलिस रिमांड लिया था। आज मंगलवार को रिमांड की अवधि खत्म होने पर फिर से उसे कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट में पेश करने के बाद उसे फिर उसे तीन दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। वहीं उक्त आरोपी की गिरफ्तारी की खबर जब किम कंपनी से ठगे गये लोगों तक पहुंची तो वह सुबह नेहरु पार्क में इकट्ठा हुए। वहां इकट्ठा होने के बाद वह कोर्ट कांपलेक्स में पहुंचे जहां आज पुलिस ने आरोपी गुरदीप सिंह को कोर्ट में पेश करना था।

नगर में रोष मार्च करते हुए भारी संख्या में यह लोग कोर्ट कांपलेक्स में पहुंचे और वहां अरोपी गुरदीप सिंह के खिलाफ उक्त लोगों ने जम कर नारेबाजी की ओर प्रशासन से अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की। नगर में रोष मार्च करने के बाद उक्त लोग थाना सिटी पहुंचे और मौजूद थाना सिटी के प्रभारी तथा डीएसपी को मिलकर उनसे मांग कि आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाये और किम कंपनी की गुरदासपुर तथा अन्य स्थानों पर जहां भी प्रापर्टी है उसे बिकने पर रोक लगाने को कहा गया।

जिसके बाद थाना सिटी प्रभारी जबरजीत सिंह तथा मौजूद डीएसपी ने उन्हें आश्वासन दिलाया कि उनकी बातों पर कार्रवाई की जायेगी और उन्हें बुधवार को सुबह 11 बजे फिर से थाना में लाने को कहा गया। इस संबंधी जब पुलिस से बात की गई तो उन्होने इस संबंध में कुछ भी कहने से मना कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *