आत्मनिर्भर भारत की ओर:मिलिट्री का सबसे बड़ा ऑर्डर टाटा को मिल सकता है, एयरबस के साथ मिलकर एयरफोर्स के लिए एयरक्राफ्ट बना सकती है

बिज़नेस

भारतीय एयरफोर्स के लिए टाटा-एयरबस मिलकर ट्रांस्पोर्टर एयरबस C-295 का निर्माण कर सकते हैं। 15 हजार करोड़ रुपए की डील को कैबिनेट कमेटी ऑफ सिक्योरिटी (CSS) से मंजूरी मिलना बाकी है। इसके तहत कुल 56 एयरक्राफ्ट तैयार किए जाएंगे।

अगले पांच सालों में तैयार होंगे 2,500 नए रोजगार के मौके

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह पहला मौका होगा जब इतने बड़े मिलिट्री एयरक्राफ्ट का निर्माण भारत में होगा। एयरो इंडिया शो में सी 295 फोकस में रहा। एयरबस ने कहा कि इससे अगले पांच सालों में करीब 2,500 नए स्किल्ड रोजगार के अवसर पैदा होंगे। माना जा रहा है कि यह ‘मेक इन इंडिया’ के तहत अब तक का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट होगा। डिफेंस एक्सपर्ट के मुताबिक यह एयरफोर्स में शामिल एव्रो फ्लीट का स्थान लेगी।

HAL के साथ भी हुए हैं 83 तेजस के लिए डील

रिपोर्ट के मुताबिक कोस्ट गार्ड और नेवी की मांग पर एयरक्राफ्ट की संख्या में बढ़ोतरी भी की जा सकती है। इससे पहले सरकार और हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल्स (HAL) के बीच 83 एलसीए तेजस मार्क-1ए जेट निर्माण को लेकर डील हुई है। यह डील लगभग 48 हजार करोड़ रुपए की है।