आंगनवाड़ी मुलाजिमों का धरना तीसरे दिन भी जारी –प्रदेशाध्यक्ष हरजीत कौर की हालत बिगड़ी, निजी अस्पताल में भर्ती।

Breaking News ताज़ा

रजिंदर सैनी
दीनानगर । अपनी अधिकारिक व जायज मागों को लेकर आंगनवाड़ी मुलाजिमों का कैबिनेट मंत्री अरुणा चौधरी की निवास स्थान के बाहर धरना प्रदर्शन तीसरे दिन भी जारी । इस मौके पर वर्करों ने पंजाब सरकार के खिलाफ अपनी जम कर भड़ास निकाली। इसके बाद कैबिनेट मंत्री अरुणा चौधरी के जरिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को याद पत्र भेजा आएगा। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए यूनियन के विभिन्न वक्ताओं ने कहा कि पिछले लंबे समय से आंगनवाड़ी मुलाजिम यूनियन अपनी मांगों को लेकर पंजाब सरकार को मांग पत्र दे चुके है। मगर सरकार की तरफ सेआंगनवाड़ी वर्करों को आ रही समस्याओं संबंधी कोई भी गंभीरता नहीं दिखाई गई। उन्होने कहा कि जब से पंजाब में कांग्रेस सरकार बनी है, तब से कोई भी बैठक नहीं की गई। जिससे वर्कर्ज व हेल्पर्ज में रोष है। उन्होंने कहा कि दो अक्तूबर 1975 से चली आ रही स्कीम द्वारा कुपोषण जैसे भयानक रोगों पर काबू पाने में सफलता प्राप्त हुई थी। मगर आज पंजाब सरकार की नीतियों के कारण यह स्कीम कुपौषित हो गई है। दूसरी तरफ पंजाब सरकार ने इस स्कीम को और इस स्कीम के साथ जुड़े हुए तीन से लेकर छह साल तक के बच्चों के चहुपक्षीय विकास को मिटाकर रख दिया है। उन्होंने मांग की कि आंगनवाड़ी वर्करों से अतिरिक्त काम लेने बंद किया जाए, पिछले दो सालों से बकाया पड़े आंगनवाड़ी बिल्डिंगों के किराए तुरंत जारी की जाए, आंगनवाड़ी सेंटरों में आंगनवाड़ी वर्करों हेल्परों की खाली पड़ी पोस्टें तुरंत भर्ती की जाए। जब तक सरकार आंगनवाड़ी मुलाजिम यूनियन की मांगों को लागू नहीं करती, तब तक संघर्ष जारी रहेगा। इस मौके पर महासचिव सुभाष रानी, वित्त सचिव अमृतपाल कौर, ज्वाइंट सचिव गुरदीप कौर, उपाध्यक्ष अनूप कौर, कृष्णा कुमारी, वरिंदर कौर खन्ना, गुरबख्श कौर, सरबजीत कौर मुकेरियां, बलविंदर कौर, नरिंदर कौर, हरजिंदर कौर आदि उपस्थित थे।

यूनियन की प्रांतीय अध्यक्ष हरजीत कौर पंजोला की हालत बिगड़ी।

नगर परिषद के नवनियुक्त अध्यक्ष नीटू चौहान ने यूनियन की प्रधान हरजीत कौर के मेडिकल ट्रीटमेंट की  मदद के लिए बढ़ाया आगे हाथ वहीं धरना प्रदर्शन स्थल पर प्रशासन की ओर से ज्यादा बंदोबस्त ना किए जाने के कारण आंगनवाड़ी महिला वर्कर्स के लिए रहने, शौचालय  आने जाने व अन्य दिनचर्या के लिए  पूर्ण व्यवस्था ना होने के कारण यूनियन की प्रदेश प्रधान हरजीत कौर की हालत बिगड़ी। उनको नगर के एक निजी अस्पताल में करवाया भर्ती। यहां उनकी हालत ख़तरे से बाहर बताई जा रही हैं।वीरवार रात आठ बजे अचानक से धरना पर बैठी हुई यूनियन की प्रदेश प्रधान हरजीत कौर पंजौला की हालत बिगड़ गई। जिससे कुछ समय के लिए स्थिति तनावपूर्ण बन गई। उधर इस बारे में जब नगर कौंसिल के नवनियुक्त प्रधान परमिंदर सिंह नीटू चौहान को पता चली तो वह हरजीत कौर को एक निजी अस्पताल में ले गए और मेडिकल व अन्य सुविधाएं प्रदान करवाई। डाक्टरों का कहना है कि हरजीत कौर की हालत अब बेहतर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *