अब विधायक की कचहरी में पहुंचा शमशानभूमि विवाद

ताज़ा पंजाब

गुरदासपुर। बटाला रोड स्थित श्मशानघाट को लेकर विवाद लगातार उलझता ही जा रहा है। पुलिस कर्मचारी भी इस विवाद को समाप्त नहीं कर पाए। अब यह मुद्दा विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा के सामने पहुंच गया है। बता दे कि इन दिनों विधायक चंडीगढ़ में व्यस्त होने के कारण अब इस मुद्दे को लेकर बातचीत नहीं हुई है। आने वाले कुछ दिनों में इस मामले के सुलझने के आसार बताए जा रहे हैं।

उधर इस मामले में एक नया मोड़ भी सामने आ चुका है। कोरोना के मरी महिला की मौत के बाद उसके संस्कार करने को लेकर 40 मिनट तक लाश को श्मशानभूमि के मुख्य द्वार पर रखने के चलते परिजनों ने इसका कड़ा संज्ञान लिया है। इस मामले को लेकर आने वाले दिनों में सरगर्मी तेज हो सकती है। हालांकि मानव कर्म मिशन ट्रस्ट के सदस्यों का कहना है कि पिछले साल से लेकर अब तक उन्होंने कोविड-19 वाले 90 से अधिक संस्कार करवाए हैं। इस दौरान होने वाले खर्चे को भी किसी से वसूल नहीं किया गया। उनका कहना है कि ट्रस्ट की ओर से पूरी ईमानदारी के साथ लोगों का सहयोग किया जा रहा है, लेकिन जिस दिन श्मशान घाट के बाहर लाश को 40 मिनट तक इंतजार करना पड़ा इस संबंधी भी परिजनों से इस मामले संबंधी परमिशन ली गई थी। संस्था के सदस्यों ने संयुक्त रूप से बताया कि किसी की भावनाओं को आहत करना उनका मकसद नहीं था। मृत परिवार के परिजनों से निवेदन करके ही उन्होंने अपना संघर्ष किया था। इसके बाद थाना सिटी प्रभारी ने इस मामले को उस दिन थोड़ा सा सुलझा दिया। इसके बाद संस्कार भी करवा दिया गया। श्मशानघाट भूमि व मानव कर्म मिशन ट्रस्ट मे चल रहे आपसी विवाद को लेकर आने वाले कुछ दिनों में विधायक बरिदरमीत सिंह पाहड़ा की ओर से इस मुद्दे को हल करवाने जाने के आसार बताए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *