अधिकतर युवक ट्रेफिक चालान कटवाने के बाद पैरंट्स को नहीं देते जानकारी — आरटीए। पिछले पांच सालों में दो हजार से अधिक वाहन किए ब्लैक लिस्टेड

Breaking News गुरदासपुर ताज़ा पंजाब बिज़नेस

रावी न्यूज नेटवर्क

गुरदासपुर। हेलो मैं रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस से कर्मचारी कमलजीत बोल रही हूं आपने अपने ट्रैफिक चालान का अभी तक भुगतान क्यों नहीं किया और आगे से आवाज आती है कि हमें ट्रैफिक चालान कटने के बारे में जानकारी ही नहीं है। बुधवार को परिवहन विभाग की ओर से ऐसे लोगों को टेलीफोन किए जा रहे थे। जिन लोगों ने अपने कई महीनों से ट्रैफिक चालान का भुगतान ही नहीं किया। जिसके चलते वाहन ब्लैक लिस्टेड करने से पहले ऐसे लोगों को टेलीकॉलिंग की जा रही है। रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी बलदेव रंधावा की ओर से लोगों को कर्मचारियों के माध्यम से मोबाइल फोन करके उनके चालान कटने की जानकारी कर्मचारियों के माध्यम से दी जा रही है। आरटीए ऑफिस का फोन कॉल आने के तुरंत पश्चात कुछ लोग तो हैरान होकर इसका जवाब दे रहे हैं। घर से स्कूल ट्यूशन सेंटर आईलेट सेंटर में दो पहिया व चार पहिया वाहन लेकर जाने वाले युवक युक्तियां ट्रैफिक चालान कटने के बाद अपने घर में इसकी जानकारी ही नहीं दे रहे। जिसके चलते अभिभावक इस बात से अनजान रहते हैं कि उनका ट्रेफिक चालान नहीं कटा है। बुधवार को जैसे ही विभागीय महिला कर्मचारी ने लोगों को फोन करने शुरू किए तो एकाएक हैरानीजनक तथ्य सामने आने शुरू हुए।

–40 फ़ीसदी लोगों को नहीं चालान कटने की जानकारी–

बुधवार को महिला कर्मचारी कमलजीत की ओर से सब लोगों को मोबाइल फोन के माध्यम से उनके चालान कटने की सूचना दी गई जिनमें से 40 फ़ीसदी लोगों का कहना था कि उन्हें ट्रैफिक चालान कटने के बारे में जानकारी ही नहीं है यह लोग वो थे इनमें से कुछ टैक्सी चालक, कुछ दूसरी राज्यों के लोग, कुछ ऐसे युवक युक्तियां थे। जिन्होंने अपने घर में  चालान काटने संबंधी जानकारी ही नहीं दी थी।

— वाहन हो रहे ब्लैक लिस्ट– आरटीए

उधर रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी बलदेव रंधावा का कहना है कि समय पर ट्रैफिक चालान का भुगतान न करने वाले लोगों के वाहन ब्लैक लिस्ट किए जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि अब तक 2000 से अधिक वाहन विभाग की ओर से ब्लैक लिस्ट कर दिए गए ।इनमें हर प्रकार के वाहन शामिल हैं जिनमें स्कूटर मोटरसाइकिल कार ट्रक बस और कमर्शियल गाड़ियां शामिल है। ऐसे वाहन चालकों का चिट्ठा विभाग ने तैयार किया हुआ है। आने वाले दिनों में अगर इन लोगों ने ट्रैफिक चालान का भुगतान नहीं किया तो विभाग की ओर से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

— अधिकतर चालानों पर मोबाइल नंबर नहीं–

उधर जैसे ही महिला कर्मचारी ने लोगों को चालान की स्लिप देख कर फोन करने शुरू किए तो ऐसे में कुछ ट्रेफिक चालान ऐसे था। जिनके ऊपर पुलिस कर्मचारियों ने चालान काटने वाले व्यक्ति का मोबाइल नंबर ही नोट नहीं किया हुआ। जिसके चलते विभाग को इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि ट्रैफिक इंचार्ज जसबीर सिंह का कहना है कि सभी ट्रैफिक चालान पर मोबाइल नंबर नोट किए जाते हैं इनमें से अगर किसी का मोबाइल नंबर नहीं है तो इसका मतलब उस व्यक्ति के पास मोबाइल फोन नहीं था। ऐसी सूरत में वह किसी का मोबाइल नंबर उस पर नहीं लिखते।

बड़े जुर्म में शामिल है ट्रैफिक चालान–

टेली कॉलिंग में सामने आया के अधिकतर लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस प्रदूषण बीमा पॉलिसी आदि के ट्रैफिक चालान कटे हुए हैं ,जबकि अधिकतर वाहन चालकों के शराब पीकर गाड़ी चलाने के पुलिस ने चालान काटे हैं। जिनका भारी-भरकम जुर्माना भी अदा करना पड़ता है ।बात अगर ड्राइविंग लाइसेंस की करें तो उसका जुर्माना 5000 प्रदूषण का जमाना भी 5000 बीमा पॉलिसी का जुर्माना 2000 अगर शराब पीकर गाड़ी चला रहे तो उसका जुर्माना ₹10000 विभाग को अदा करना पड़ता है भारी भरकम जुर्माने के डर से ही लोग ट्रैफिक चालान का भुगतान करने ऑफिस नहीं आ रहे। यहां तक कि अगर नाबालिग युवक से ट्रैफिक चालान कट जाए ।जिस पर पुलिस विभाग बिना ड्राइविंग लाइसेंस का चालान काट दे तो ऐसे में ₹25000 जुर्माना और अभिभावकों को कैद का प्रावधान भी है।

— लोग अपने दस्तावेज पूरे रखें– आरटीए बलदेव रंधावा

उधर रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी बलदेव रंधावा का कहना है कि अगर लोग वाहन का रजिस्ट्रेशन प्रदूषण इंश्योरेंस और अपना ड्राइविंग लाइसेंस पास रखे तो का भारी-भरकम जुर्माने से बच सकते हैं ।शराब पीकर गाड़ी ना चलाएं जुर्म के साथ-साथ सड़क दुर्घटना का कारण भी बनते हैं ।जिसके चलते सरकारों को ऐसे लोगों पर सख्ती करनी पड़ती है। लोग अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए ट्रैफिक नियमों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *